सौतेली सास ने सम्भोग सुख दिया

मैं 32 साल का हूँ, मेरी हाईट 5 फिट 7 इंच हे. और मेरा वेट 68 किलो हे. मेरी शादी 2002 में हुई थी. संसार थी चल रहा था मेरे 2 बच्चे हैं. मेरी वाइफ की सगी माँ शालिनी देवी का देहांत हो गया. और मेरे ससुर जी ने दूसरी शादी कर ली. सासु जी की मौत मेरी शादी के 2 महीने के बाद हुई. मेरी 1 साली और 1 साला हे जिसकी शादी नहीं हुई थी. उस वक्त साला 17 साल का और साली 15 साल की थी. इसलिए मेरे ससुर ने दूसरी शादी कर ली. मेरे ससुर ने शादी की वो औरत भी दूसरी शादी कर रही थी. उसका पति शराबी होने की वजह से उसने 2 लड़के होने के बाद भी डिवोर्स ले लिया था. मेरी ससुर की एज 52 साल और मेरी सास की उम्र 36 साल की थी.

ससुर की शादी के बाद जब मैं ससुराल गया तो मैं सासु जी को देख के दंग रह गया. क्या कमाल की लगती थी. 36 की नहीं वो तो 30 का सेक्सी पटाखा माल लग रही थी. मेरी नियत ख़राब हो गई. मैं आप को बताना चाहूँगा की मेरी वाइफ 2 डिलीवरी के बाद सेक्स में इंटरेस्ट नहीं रखती थी. मैं प्यासा ही रहता था. जबरदस्ती से सेक्स करने में मजा क्या हे! प्यार दो और प्यार लो.

मेरी प्यास बूझती नहीं थी उस वक्त मेरी सासू जी मेरी वाइफ से सुंदर लगने लगी. और सोच रहा था की कब मौका मिलेगा मुझे. मेरी ससुर कितनी किस्मत वाले हे जो इतनी उम्र में भी उन्हें 36 साल का ये सेक्स बोम्ब चोदने के लिए मिला हे. ऐसे ही एक साल निकल गया. मैं उसपे मरता था और उसके नाम के कई बार मुठ मार चूका था. लंड को ऐसे खाली हिला के दिमाग जरुर हल्का होता था लेकिन वासना की आग जरा भी नहीं बूझती थी. लेकिन रिश्ता आड़े आ रहा था मेरे और सासु माँ के बिच में!

एक दिन मेरे नसीब ने मेरा साथ दिया. सासु जी मेरे घर रहने को आई थी. ससुर नहीं आये थे वो अकेली ही आई थी. मेरी सासू जी की दांत में दर्द था. मुझे मेरी बीवी ने कहा माँ को दांतों में दर्द हे किसी डॉक्टर के पास ले जाओ. मैं और सासु जी शहर के एक अच्छे डेंटिस्ट के पास गए. और डेंटिस्ट ने ट्रीटमेंट दी और रूट केनाल के लिए कहा. ससुर जी को फोन कर के बताया तो कहा इलाज करवा के ही आना, क्यूंकि हमारे यहाँ डेंटिस्ट उतने अच्छे नहीं हे

मैं सासु जी को डॉक्टर के वहां बाइक के ऊपर ले के गया था. उसका नशीला बदन मुझे बार बार टच कर रहा था. बाइक पे इधर उधर की बातें करने के बाद मैंने पूछा की अगर तुम बुरा ना मानो तो एक बात पूछूं? उसने कहा पूछो. मैंने कहा इतनी सुंदर हो आप और आप ने 52 साल के मेरे ससुर से शादी क्यूँ की? आप को तो अभी 36 भी पुरे नहीं हुए हे. तो उसने कहा की माँ बाप की मर्जी के आगे मेरी नहीं चली. कही मेरी जवानी में मेरा पाँव इधर उधर फिसल ना जाए इसलिए उन्होंने मेरी शादी करवा दी. और माँ बाप पे बोज बनना नहीं चाहती थी इसलिए मैंने ये दूसरी शादी कर ली. अगर लड़की घर में रहे तो बोज लगता हे.

मैंने कहा ठीक हे पर तुम खुश तो हो ना? उसने कुछ नहीं कहा. फिर उसने कहा की तुम्हारी लाइफ कैसे जा रही हे? मैंने कहा की तुम बुरा ना मानो तो खुल के बता दूँ? तो उसने कहा हां कहो ना. मैंने कहा मेरी लाइफ जो तुम देख रही हो वो नहीं हे. मेरे पास सब कुछ हे पर जो मुझे चाहिए वो प्यार और सेक्स मेरी वाइफ नहीं दे रही हैं. मैं शादी के बाद भी अपनी वाइफ से सेक्स नहीं कर पाता हूँ, उसे सेक्स में इंटरेस्ट नहीं रहा हे अब. वो ये सच्चाई जानकार हैरान हो गई. वो बोली तुम्हारी वाइफ से सेक्स सबंध नहीं हे? मैंने कहा आप नासिब्वाली हो जो सेक्स तुमको मिल रहा हैं. मैं इस दुनिया में अकेला हूँ, संसार हैं, 2 बेटों के लिए निभाना पड़ेगा!

तो फ़ौरन उसने मेरे कंधे के ऊपर हाथ रख दिया और कहा की तुम चाहो तो मैं तुम्हे सुख दे सकती हूँ! वो भी सेक्स की प्यासी थी. मेरे ससुर चोद नहीं पाते थे. मैंने कहा कैसे सुख दो गी?

हम डॉक्टर को दिखा के वापस शहर से गाँव की तरफ जा रहे थे. गाँव अभी करीब 15 किलोमीटर जितना दूर था. रस्ते में अँधेरा हो गया था. उसने कहा की बाइक रोको. मैंने रोक दी. उसने बाइक से उतर के मेरे होंठ चूसने चालु कर दिए. मैं भी एकदम गरम हो गया और उसके होंठो को चूसते हुए सासु माँ के बूब्स दबाने लगा. वो जोश में आ गई थी. वो मुझे लिपट गई और मुझे वादा किया की तुम जब चाहो मुझे चोद सकते हो. और मैंने उसे इंतजार करने को कहा. 7 दिन मेरे घर रहने के बाद वो वापस अपने घर यानी की मेरे ससुराल चले गए.

15 दिन के बाद उसका फोन आया. वो अपने मइके जा रही थी. मुझे अगले दिन सुबह 8 बजे मिलने को कहा. मैं रात भर सो नहीं सका.

अगले दिन मैं टाइम पे पहुँच गया. मेरी वाइफ को बोला मैं दोस्त की शादी में जा रहा हूँ रात को देरी से आऊंगा. उधर सासु जी ने बहाना निकल के आ गई. हम लोग बाइक पे बैठ के 1 अच्छे से होटल पर पहुँच गए. हमारी जोड़ी भी जम रही थी. एक रूम बुक करवा के रूम में हम दोनों फ्रेश हो गए. फिर मैंने उसे चूमना चालू कर दिया. वो भी साथ देने लगी थी. मैंने एक एक कर के उसके सारे कपडे खोल दिए. अब वो सिर्फ पिंक ब्रा और पेंटी में थी. गजब का नशीला गोरा गोरा मख्खन के जैसा बदन था. मैंने जीभ से सारा बदन चाता. एक एक अंग को चाता. वाऊ वो भी हॉट हो गई. मैंने उसकी ब्रा खोल दी. उसके गोरे गोरे बूब्स जो ताने हुए थे वो बहार आ गए.

मैं एक बूब्स को मुहं में ले के पिने लगा. और दुसरे को अपने हाथ से दबाने लगा. वो मेरे कपडे निकाल रही थी. उसने अंडरवेर को छोड़ के बाकी के सब कपडे निकाल दिए. मैंने अब सासू माँ की पेंटी निकाली दी और उसकी गुलाबी क्लीन शेव चूत को जबान से फक करने लगा. उसको आजतक ऐसा मजा नहीं मिला था. उसकी इतना मजा आ रहा था की अपनी आँखे बंद कर के वो अपने होंठो को जबान से और दांतों से दबा रही थी. वो अपनी गांड उठा उठा के अपनी चूत चुसवा रही थी. और फिर उसकी चूत से रस टपक गया. मैं वो रस पिने लगा. वो 15 मिनिट के बाद झड़ भूकी थी.

अब सासु जी ने मेरा बदन चूमना चालू कर दिया. और मेरे लंड को बहार निकाल के देखा तो वो दंग सी रह गई. मेरा लंड पूरा 8 इंच लम्बा और 3 इंच मोटा हे. वो इतने बड़े लंड को देख के जैसे पागल हो गई. उसने मुझे कहा की उसने आज तक 6 इंच से ज्यादा बड़े लंड को कभी अपनी चूत में नहीं लिया हे. मैंने सासू माँ की टाँगे उठाई और एक झटके में पूरा लंड उसकी चूत में घुसा दिया. वो रंडी की तरह चुदवा रही थी. करीब 20 मिनिट तक मैं उसे चोदता रहा. वो अपनी गांड उचका उचका के हिला रही थी और मैं उसको इधर उधर चूम के चोद रहा था.

कुछ देर में हम दोनों ने आलिंगन कर लिया और मेरे बदन ने झटके दिए. पसीने से लथपथ हो चुके थे हम. और फिर मैंने अपना सब वीर्य मेरी सेक्सी सास की चूत में ही निकाल दिया!!!