साली की मसाज करके चूत फाड़ी

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम करण है. मैंने काफ़ी कहानियां पढ़ी है और काफ़ी मुठ भी मारी है. दोस्तों ये स्टोरी मेरी साली सानिया की है, वो बेहद कमसिन 20 साल की सेक्सी लड़की है, मेरी साली की हाईट 5 फुट 6 इंच और गांड मोटी और गोल-गोल बूब्स मीडियम साईज के है, मेरे ख्याल से उसका साईज 35-30-38 होगा. में शरू से ही उसे चोदना चाहता था, लेकिन मुझे कभी मौका ही नहीं मिला और वैसे भी में रिस्क नहीं लेना चाहता था.

अब हुआ यह कि इस बार की गर्मियों की छुट्टियों में मेरी साली रहने के लिए मेरे घर आई हुई थी और उसके साथ मेरी सास भी आई थी, लेकिन वो दो दिन के बाद वापस चली गयी थी. मेरी पत्नी एक प्राइवेट कंपनी में जॉब करती है और वो सुबह 9 बजे घर से निकल जाती है और शाम को 6 बजे वापस आती है. में अपनी साली को अपने बाथरूम के रोशनदान से नहाते हुए भी देखता था, वो क्या मस्त चीज है? वो एकदम सेक्स से भरपूर मोटी गांड जैसे वो किसी बड़े लंड से रोज चुदती हो वैसी मेरी साली थी. वो बहुत तेज, बिल्कुल शर्मीली और नौकरी करती है और अपने दोस्तों के साथ खूब मस्ती भी करती है.

दोस्तों ये बात उस दिन की है जब रोजाना की तरह मेरी पत्नी ऑफिस चली गयी थी और मेरी साली अभी गेस्ट रूम में सो रही थी, उसने कॉटन की लोंग स्कर्ट पहन रखी थी जो कि ऊपर उठ चुका था और उसकी गोरे–गोरे दूध जैसे पैर बाहर की और आ चुके थे. वो उठने में काफ़ी लेट हो गयी थी तो मैंने सोचा कि क्यों ना इसे उठा दूँ? और इस बहाने उसकी गांड पर अपना हाथ भी लगा दूँगा. फिर में उसके पास गया और उसे करीब से देखने लगा. वो सो रही थी और में उसके बूब्स को देख रहा था.

तभी मेरा मन किया कि अभी मूठ मार लूँ, लेकिन फिर मैंने सोचा कि कहीं उठ ना जाए. फिर मैंने अपना काम शुरू किया और उसकी गांड पर अपना एक हाथ रखकर कहा कि सानिया उठो काफ़ी देर हो गयी है. फिर सीधी गहरी नींद में सो रही थी, तो मैंने मौका संभाला और उसके चूतड़ों को दबा दिया तो मैंने उसकी चड्डी को महसूस किया और बोला कि सानिया अब उठ भी जा इतना नहीं सोते.

फिर इस बार वो उठ गयी और बोली कि सॉरी जीजू आज नींद ही नहीं खुली, मौसम बड़ा मज़ेदार है ना इसलिए. फिर मैंने कहा कि चल अब उठ जा और नहा ले. फिर वो बोली कि आप नहा लिए जीजू और फिर मैंने उसे छेड़ने के अंदाज़ में कहा कि क्यों मेरे साथ नहाना था तुझे? तो उसने कहा कि जीजू आप भी ना और मुस्कुराकर बाथरूम में घुस गयी.

फिर उस दिन मैंने फिर से उसे नंगी देखकर जबरदस्त मुठ मारी. अब मेरा लंड उसके चूतड़ देखकर तड़प रहा था. फिर सानिया नहाकर बाहर आई और बोली कि जीजू में अपने कपड़े छत पर डालने जा रही हूँ. अब वो अपनी चड्डी और ब्रा की बात कर रही थी, तो मुझे और जोश आ गया और मन में सोचा कि एक दिन साली तुझे खूब चोदूंगा, लेकिन मुझे क्या पता था कि वो एक दिन आज ही होगा? फिर छत से उतरते हुए वो सीढ़ियों से थोड़ा सा फिसल गयी और चिल्लाई जीजू आअहह.

फिर में भागकर गया और उसकी गांड पकड़कर उसे उठाया. फिर वो बोली कि नहीं जीजू वहाँ नहीं पकड़ो वहाँ पर ही चोट लगी है. फिर मैंने कहा कि कहाँ गांड पर? तो उसने कहा कि हाँ मेरी गांड टूट गयी है आआहह. अब वो ज़ोर से अपनी गांड पकड़कर बैठ गयी थी. फिर मैंने उसको समझाना शुरु कर दिया बस सानिया ठीक हो जाएगी. फिर उसने कहा कि नहीं जीजू बहुत दर्द हो रहा है. फिर मैंने मौका देखा और कहा कि ज़्यादा दर्द है तो बाम लगा दूँ या मसाज कर दूँ. फिर उसने कहा कि जीजू आप ऑफिस के लिए लेट तो हो रहे है ना. फिर मैंने कहा कि नहीं सानिया तुझे ऐसी हालत में छोड़कर थोड़ी ना जाऊँगा, चल रूम में आ जा में तुझे बाम लगा दूँ.

सानिया ने अभी भी स्कर्ट पहन रखा था और उसकी गांड सेक्स से भरपूर लग रही थी. अब मुझे उसकी कच्ची का शेप भी नजर आ रहा था. अब उसकी मसाज के ख्याल ने मेरे लंड को खड़ा कर दिया था. फिर मैंने उससे कहा कि सानिया बेड पर लेट जा. फिर उसने कहा कि जीजू जल्दी आओ ना. फिर मैंने कहा कि आ गया मेरी जान, बाम तो लाने दे और फिर वो बेड पर लेट गयी.

फिर मैंने उससे कहा कि सानिया अपनी गांड को ऊपर करके उल्टी लेटो. फिर वो बोली कि अच्छा जीजू, अब जल्दी लगाओ. बस फिर क्या था? मैंने उसकी जांघों को दबाना शुरु किया और धीरे से अपने एक हाथ को उसकी मोटी राउंड सेक्सी गांड पर जमा दिया. फिर उसने कहा कि जीजू बाम तो मलो यार सिर्फ दबाने से कुछ नहीं होगा. फिर मैंने मैंने हँसते हुए कहा कि साली साहिबा तुम्हें अपना स्कर्ट थोड़ा सा ऊपर करना पड़ेगा. फिर उसने कहा कि खुद कर दो ना प्लीज, लेकिन जल्दी से बाम लगाओ, तो मैंने कहा कि ठीक है.

फिर मैंने उसकी स्कर्ट पकड़कर ऊपर करने की कोशिश की, लेकिन वो थोड़ी टाईट थी और मेरी सेक्सी साली के कूल्हें थोड़े मोटे थे. फिर उसने कहा कि जीजू रूको आपको कुछ नहीं आता और फिर वो खड़ी हुई और अपनी स्कर्ट ऊपर करने लगी, लेकिन उससे पूरी तरह से नहीं हुआ और सिर्फ़ ऊपर जांघे ही दिखाई पड़ी, लेकिन क्या मलाई थी. अब मेरा तो चाटने का मन कर रहा था तो मैंने उससे कहा कि सानिया और ऊपर करना पड़ेगा.

फिर उसने कहा कि क्यों जीजू आप अंदर हाथ डालकर बाम लगा दो ना? तो मैंने कहा कि ठीक है फिर उल्टी लेटो. अब सानिया को जल्दी थी और उसकी नंगी जांघो ने मेरे लंड को मोटा कर दिया था, जो कि मेरी नेकर से बाहर आ रहा था. फिर मैंने बाम मलनी शुरू की और उसकी सेक्सी जांघो पर खूब मली.

फिर वो बोली कि जीजू चोट तो कूल्हों पर लगी है वहाँ भी लगाओ, आपको कहीं शर्म तो नहीं आ रही है ना? लाओ में खुद लगा लेती हूँ. फिर में बोला कि नहीं साली में तो बस जांघो में ही गुम हो गया था और उससे बोला कि तुम्हारे पैर बहुत सेक्सी है. फिर उसने कहा कि थैंक्स जीजू, अब आप प्लीज लगायेंगे. फिर मैंने अपने एक हाथ में थोड़ी सी बाम ली और अपना एक हाथ उसकी स्कर्ट के अंदर डाल दिया और उसके नंगे चूतड़ों के ऊपर पहुँचा दिया. में मेरी साली को हमेशा से चोदना चाहता था.

फिर मैंने बाम मलना शुरू किया और उससे कहा कि तुम्हारी गांड कितनी सेक्सी है सानिया? तो उसने कहा कि जीजू आप मस्ती करना छोड़ दो प्लीज. फिर मैंने अपने एक हाथ की पूरी बाम उसके चूतड़ों पर मल दी. अब उसे बहुत मजा आने लगा था तो उसने कहा कि जीजू अब आराम मिल रहा है, हर जगह अच्छी तरह दबाओ. फिर मैंने उससे पूछा कि हर जगह मतलब. फिर वो बोली कि मतलब कूल्हों पर चड्डी के अंदर भी प्लीज बहुत दर्द हो रहा है.

अब में खुश हो गया था और उससे पूछा कि क्या में तुम्हारी चड्डी में हाथ डाल दूँ? तो उसने कहा कि तो क्या जीजू मसाज तो ऐसे ही होती है ना? क्या में आपको मना कर रही हूँ? तो मैंने उससे कहा कि सानिया तुम बहुत तेज हो और फिर मैंने उसकी चड्डी में अपना एक हाथ डाल दिया. बस फिर क्या था? अब उसकी चड्डी गीली हो चुकी थी और फिर मैंने उसके कूल्हों को मलते-मलते उसकी झांटों को भी टच करना शुरू कर दिया था. अब वो मस्त हो रही थी. अब हम दोनों चुप हो गये थे और मजा कर रहे थे.

तभी अचानक से वो बोली कि जीजू आपके हाथों में बहुत मजा है, प्लीज रुकना मत, में सोने लगी हूँ, लेकिन आप अच्छी तरह से मसाज कर देना. फिर मैंने उससे कहा कि सानिया तुम सो जाओ, में खुद ही सब दर्द ख़त्म कर दूँगा. अब में समझ गया था कि साली ने चुदने के लिए हाँ कह दी है और फिर वो सोने का नाटक करने लगी और अपनी आँखें बंद कर ली और मुझे पूरा मौके दे दिया.

फिर में 7-8 मिनट तक तो अपने हाथ से उसके जांघो, झांटों और कूल्हों की मसाज करता रहा और फिर जब वो अपनी आँखें बंद करके लेटी रही तो मैंने खुद से कहा कि अभी नहीं तो कभी नहीं, चूत गर्म है, चल भाई शुरू हो जा और फिर मैंने उसके गालों पर किस कर लिया, तो वो सोई रही. फिर मैंने उसकी स्कर्ट को उतारना शुरु कर दिया. अब उसके पैर पूरे नंगे थे और वो सिर्फ़ चड्डी में ही थी जो कि गीली हो चुकी थी. फिर मैंने उसके बूब्स को भी दबाया, लेकिन वो कुछ नहीं बोली और उसका सोने का नाटक जारी रहा. फिर मैंने पहली बार उसकी चड्डी के ऊपर से उसकी चूत पर अपना हाथ लगाया, तो उसकी सिसकी निकल गयी आआआहह. फिर मैंने कहा कि क्या हुआ? तो वो बोली कि कुछ नहीं अब दर्द कम हो रहा है, आप लगे रहो प्लीज. फिर मैंने उसकी चूत पर किस कर दी और उसकी शर्ट उतारने लगा. फिर वो हरामजादी उठकर बोली कि जीजू ये आप क्या कर रहे है? तो मैंने उससे कहा कि तुम्हें मसाज देने के लिए कपड़े तो उतारने पड़ेंगे ना.

फिर उसने कहा कि जीजू में ऐसी वैसी लड़की नहीं हूँ जो इतनी जल्दी हाथ में आ जाऊँ. फिर में बोला तो फिर कैसे आओगी? तो उसने कहा कि पहले आप बताओं कि में कैसी हूँ? तो मैंने कहा कि सानिया तुम बहुत सुंदर हो और सेक्सी हो, अब चोदूं तुम्हें. फिर उसने कहा कि अगर कुछ चाहिए है तो जीजू आपको मेरी चूत चाटनी पड़ेगी. फिर मैंने उसकी चड्डी में अपना एक हाथ डालकर उसकी चड्डी फाड़ दी और बोला कि साली तू बहुत बड़ी रंडी है, में हमेशा से ही तेरी बहन को बोलता था और उसकी चूत को चाटना शुरू किया.

वो बोली कि आप कौन से कम है? आपने मेरी बहन को कितने दोस्तों से चुदवाया है? आआहह लगे रहो हरामी. फिर मैंने कहा कि तेरी बहन तो मेरे दोस्तों की रंडी है और उसको 3-3 लोगों ने एक साथ चोदा है. फिर वो बोली कि बेचारी मेरी बहन की भोसड़ी का भोसड़ा बना दिया है. फिर मैंने उससे पूछा कि तू मेरे दोस्तों से चुदवायेगी क्या? तो वो गुस्सा हो गयी और बोली कि हरामी तुझसे चुद गयी हूँ बस यही काफ़ी है, बस जीजू तुम मुझे खूब चोदो. फिर मैंने सोचा कि आज में तुम्हें चोद लूँ और फिर अपने दोस्तों को तेरा नंगा बदन दूँगा और उसकी चूत को छोड़कर उसके बूब्स को दबाना शुरू किया. फिर उसने भी मेरा लंड पकड़ लिया और अपने मुँह में डालने के लिए इजाजत माँगी, तो मैनें उसे इज्जात दे दी. फिर उसने बहुत देर तक मेरे लंड को खूब चूसा.

फिर थोड़ी देर के बाद मैंने उसके मुँह में से अपना लंड बाहर निकला और उसकी चूत में डाल दिया. फिर वो सिसकारियां लेने लगी आआआआआआहह और डालो, आआआआअ जीजू अपनी साली को ज़ोर से चोदो ना, अपनी साली को अपनी रंडी बना लो. फिर मैनें कहा कि साली कब से तेरी गांड देखकर मुठ मारता था? आज तो में तेरी गांड ही फाड़ दूँगा और चूत भी, आआआआआआहह और उससे पूछा कि साली अब तक कितनों से चुद चुकी है? तो उसने कहा कि सिर्फ़ 3 लड़कों से एक मेरा क्लासमेट, एक मेरा बॉस और एक मेरा कज़िन था. फिर मैंने पूछा कि कभी उन तीनों ने एक साथ नहीं चोदा? तो वो बोली कि नहीं और में चाहती भी नहीं थी, जीजू और तेज, आआहह मेरी चूत फट गयी, मारो मेरी गांड, मुझे कुतिया बनाओ और खूब चोदो. फिर उसके बाद मैंने उसे खूब चोदा और आज तक भी चोदता आ रहा हूँ.