दूध वाली नेहा आंटी

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम दामन है और मेरी हाईट 6 फुट है. आज में आपको अपनी एक नई कहानी सुनाने जा रहा हूँ. ये बात आज से 2 हफ्ते पहले की है. में हर रोज सुबह 6 बजे जिम जाता हूँ तो रास्तें में एक दूध डेयरी आती है, जहाँ पर एक 35-36 साल की लेडी बैठती है. मैंने कभी उस तरफ ध्यान नहीं दिया. फिर एक दिन वो आंटी अपनी शॉप के बाहर खड़ी थी. मैंने आंटी को ध्यान से देखा तो वो क्या मस्त माल थी यारो? उस आंटी की हाईट 5 फुट 5 इंच थी, शरीर थोड़ा भरा हुआ, उसके बूब्स बड़े-बड़े थे और गांड तो बस कयामत थी. अब आंटी को देखकर एक बार तो मेरे मुँह से आह निकल गई.

फिर धीरे-धीरे मैंने आंटी पर लाईन मारनी स्टार्ट कर दी. अब उनकी शॉप के पास जाकर हॉर्न मारना तो उसका रिज़ल्ट ये हुआ कि अब आंटी भी मुझे नोटीस करने लगी और थोड़ी स्माइल करने लगी. फिर मैंने सोचा कि मेरा काम बन सकता है, अब आंटी की आँखो में एक प्यास सी थी. फिर कुछ दिन के बाद आंटी के पति कही बाहर गये हुए थे तो आंटी शॉप पर अकेली ही होती थी. फिर एक दिन सुबह बारिश का मौसम था तो में जिम जाने के लिए घर से निकला तो आंटी की शॉप के पास जाकर बारिश स्टार्ट हो गई.

फिर मैंने अपनी बाइक को आंटी की शॉप के थोड़ा पीछे रोक दी. अब बारिश तेज हो गई थी और अब आंटी अपनी शॉप के बाहर खड़ी थी. फिर हम दोनों की नज़रे मिली तो आंटी ने थोड़ी स्माइल दी. फिर मैंने भी जवाब में एक स्माइल कर दी. उस समय आंटी पजामा और टी-शर्ट पहने हुई थी जिसमें से आंटी की मस्त जवानी कयामत ढा रही थी.

अब आंटी मेरी तरफ ही देख रही थी और फिर 5 मिनट के बाद आंटी ने मुझे अपनी शॉप पर आने का इशारा किया तो में खुश हो गया. अब बारिश के कारण पूरा रोड़ खाली था और फिर में वहाँ पहुँच गया तो आंटी खुश हो गई. फिर कुछ देर तक हमारी नॉर्मल बातें हुई और फिर आंटी ने अपना नाम नेहा बताया. जब आंटी बात कर रही थी तो मेरा ध्यान आंटी के बूब्स और गांड पर ही था, जिसे आंटी ने भी नोटीस कर लिया था.

फिर आंटी ने कहा कि आज मौसम बहुत खराब हो गया है तो मैंने कहा कि ये तो रोमांटिक मौसम है और आपको तो अपने पति के साथ होना चाहिए. ये सुनकर आंटी का मूड थोड़ा खराब हो गया और उन्होंने कहा कि उन्हें इस मौसम से क्या फ़र्क पड़ता है? वो तो बस पैसे के पीछे लगे हुए है. तो में समझ गया कि आंटी प्यासी है तो मैंने उन्हें सॉरी कहा और उन्होंने इट्स ओके कहा. फिर मैंने कहा कि आप तो इतनी स्मार्ट है और आपको देखकर लगता नहीं कि आप शादीशुदा है.

दोस्तों लेडीस की थोड़ी तारीफ कर दो तो वो पिघलने लगती है. फिर आंटी ने थैंक्स कहा और बोली कि मेरी भी तो कुछ इच्छा होती होगी. तो मैंने पूछा कि क्या में आपकी कोई मदद कर सकता हूँ? तो उन्होंने मुझे ऊपर से नीचे तक देखा और तब तक मेरा लंड भी खड़ा हो चुका था, जो आंटी ने देख लिया था. फिर आंटी ने पूछा कि तुम क्या कर सकते हो? तो मैंने कहा कि कुछ भी जो आपको खुशी दे.

फिर आंटी मेरे पास आकर खड़ी हो गई और वो अपनी शॉप का शटर नीचे करने लगी. जब वो शटर नीचे कर रही थी तो वो थोड़ी झुकी तो उनकी गांड मेरे लंड के साथ रगड़ने लगी. में भी अपने लंड को आंटी की गांड पर दबाने लगा और आंटी ने कुछ नहीं कहा. फिर जब आंटी ने शटर बंद किया तो आंटी झुकी हुई थी और मैंने पीछे से उसके बूब्स पकड़ लिए तो उनके मुँह से आआआआआहह निकल गई. फिर आंटी सीधी हुई तो मैंने आंटी को किस करना स्टार्ट कर दिया.

अब आंटी भी मेरा साथ देने लगी थी और अब मेरे हाथ आंटी के बूब्स पर थे और आंटी मेरे लंड को सहला रही थी, अब आग दोनों तरफ बराबर लगी हुई थी. फिर में आंटी को नंगा करने लगा तो आंटी ने कहा कि अंदर एक छोटा कमरा है, वहाँ चलो. फिर वहाँ जाकर मैंने आंटी को ज़मीन पर लेटा दिया और थोड़ा दूध लेकर आंटी की बॉडी पर लगा दिया और आंटी को लिक करने लगा.

अब आंटी तो जैसे पागल हो गई थी और बोलने लगी कि ऊऊऊऊहह जान ये क्क्क्यया कककककररररर दिया, में पागल हो जाउंगी, ओह्ह्ह्हह्हओह में मरररररररररररर गगईईईईईईईईई. फिर मैंने आंटी की बॉडी के सब पार्ट्स को चूसा, आंटी के बूब्स तो बहुत मस्त थे. फिर मैंने थोड़ा दूध आंटी की चूत में डाला और चूसने लगा. आंटी ने मेरा सिर अपनी चूत पर दबा लिया और बोली, हहाआआआआआ वाऊऊऊऊऊऊववववव चूऊऊऊस्स्स्स्सस्सो साली इसमें बहुत गर्मी है.

फिर मैंने आंटी की चूत से मुँह हटाया और अपने लंड पर थोड़ा दूध लगाया और फिर हम दोनों 69 की पोज़िशन में आ गये. फिर आंटी ने मेरे लंड को ऐसे चूसा जैसे उसे खा ही जायेगी. अब हम दोनों ने एक दूसरे का रस पिया. फिर आंटी बोली कि मुझे इतना मज़ा आज तक कभी नहीं आया, मैंने कहा कि असली मज़ा तो अभी बाकी है मेरी जान. अब आंटी मेरे लंड को सहला रही थी जो 5 मिनट में खड़ा हो गया था.

फिर मैंने आंटी को लेटाया और उनके पैरों को खोल दिया, फिर मैंने थोड़ा थूक आंटी की चूत पर लगाया और अपने लंड को आंटी की चूत पर रखकर थोड़ा ज़ोर लगाया तो मेरा लंड आंटी की चूत में पूरा उतर गया. अब आंटी की आँखो में आंसू आ गये थे तो मैंने पूछा कि क्या हुआ? फिर उसने कहा कि वो 6 महीने के बाद आज चुद रही है तो थोड़ा दर्द हो रहा है. अब आंटी अपने नाख़ून मेरी पीठ पर रगड़ रही थी और फिर थोड़ी देर में आंटी को मज़ा आने लगा और वो आआआआऊउऊहह माँ औआआआआररर और ज़ोर से चोदो मुझे, फाड़ दे इसे, इसने बहुत तंग किया.

अब आंटी भी नीचे से धक्के मार रही थी और वो अपने बूब्स दबाने लगी. अब आंटी दो बार झड़ गई थी. फिर आंटी बोली कि में आज पूरी तरह संतुष्ट हुई हूँ तो मैंने कहा कि अभी मेरा नहीं हुआ. फिर मैंने आंटी को घोड़ी बनाया और उन्हें चोदने लगा. फिर कुछ देर में मेरा होने वाला था तो मैंने कहा कि में झड़ रहा हूँ जान. फिर उसने कहा कि मेरे अंदर ही झड़ जाओ.

फिर 5 मिनट के बाद मेरे पानी से आंटी की चूत भर गई. फिर हम दोनों कपड़े पहनने लगे और आंटी ने मुझे किस किया और कहा कि तुम बहुत अच्छे हो. अब तो में हमेशा तुमसे ही चुदवाऊंगी. मैंने कहा कि जब भी इच्छा हो तो याद कर लेना मेरी जान. फिर मैंने आंटी से कहा कि में आपकी गांड मारना चाहता हूँ. तो उन्होंने कहा कि आज तो संभव नहीं है, लेकिन अगली बार पक्का मार लेना. फिर मैंने ओके कहा और आंटी को लम्बा स्मूच किया. फिर आंटी ने मेरा नंबर लिया और कहा कि अगली बार पूरा दिन तुमसे चुदवाऊंगी और में उनसे वादा करके निकल गया.