देवरजी का लंड लिया

हेलो देवरजी मेरा नाम सीमा भाभी है और मैं मुंबई की रहने वाली हूं. मेरी उम्र ३५ साल है. मेरा फिगर ३८-३२-४० है और मेरे हस्बैंड जो कि हमेशा काम में बिजी रहते हैं और मुझे चोदते भी नहीं है और मैं हमेशा चूदाई के लिए तैयार रहती हूं.

लेकिन मेरे हस्बैंड मुझे चोदते नहीं हे अपने काम ने बीजी रहते हे. मुझे मेरे पड़ोस के सारे लोग लाइन मारते हैं मुझे चोदने के लिए. मैं हर रोज चूदवाना चाहती हूं लेकिन मुझे लंड नहीं मिल पाता है और घर की इज्जत की वजह से मैं किसी पड़ोसी से चूदाई भी नहीं हु.

लेकिन मुझे चूदाई का बहुत मन करता है, तभी कुछ ऐसा हुआ कि मेरी जिंदगी बदल गई और मुझे रोज की लंड मिलने लगा, और मैं रोज चुदवाने लगी, मुझे देवर जी हमेशा लाइन मारते थे.

एक दिन मैंने अपने देवर का लंड बाथरूम में देख लिया और मुझे उन से चूदवाने का मन करने लगा और मैं सोचा कि अगर मैं देवर जी से चूद गयी तो घर में ही मुझे लंड मिल जाएगा, वैसे मुझे देवर जी बहुत बार प्रपोज किया है, कि सीमा भाभी आप बहुत सेक्सी हो लेकिन मैं सिर्फ अपने हस्बैंड से चूदवाना चाहती थी..

लेकिन अब वह मुझे नहीं चोदते हैं इसलिए मैं सोचा कि घर में ही देवर जी से चूदवा लुंगी तो मुझे रोज लंड मिलेगा और देवर जी तो मुझे बहुत पहले से लाइन मारते हैं. अब जब देवर जि बाथरुम में नहाने जाते तब में उनका लंड देखने लगती थी, उन के दरवाजे से. देवर जी का लंड देख के मुझे जबरदस्त चूदाई का मन करने लगता था.

वैसे मैं और मेरे देवर जी दोनों लोग बहुत खुलकर बात करते हैं, जब भी देवर कोई लड़की को चोदते है तो मुझे बताते हैं और मैं भी अपने चूदाई की बात अपने देवर जी को बताती हूं, एक दिन मैं अपने देवर से बताइ कि आपके भैया मुझे ठीक से चोदते नहीं है.

तो देवर जी बोले कि मुझे मौका दीजिए, मैं आपकी हेल्प कर सकता हूं. वैसे देवर जी बहुत बार उनके साथ चूदाई के लिए बोले हैं, लेकिन मैं अब तक अपने देवर जी से चूदाई नहीं करवाई, लेकिन आज मैं अपने देवर जि से चूदाई करवाना चाहती थी.

इसलिए मैं अपने देवर को इशारे में बोल दिया कि ठीक है में आप से चूदवाना चाहती हूं और जब दोपहर में मैं नहा कर आइ तो मेरे देवर जी मेरे बेडरुम में आए और घर में भी कोई नहीं था, सब लोग अपने काम पर गए थे. घर में सिर्फ मैं और मेरे देवर जि थे. मैं बाथरूम में साड़ी पहनी थी और मेरे देवर जि आते ही मेरे बेडरूम में मेरी चूची को दबाने लगे.

में एकदम गरम हो गई और मेरे बदन की खुशबू से मेरे देवर जी को और भी ज्यादा मदहोश हो गए और मेरी चूची मेरे ब्लाउज के ऊपर से दबाने लगे और मैं भी उनका साथ देने लगी और उनके बालों को नोचने लगी, और अब मेरे देवर जी भी गरम हो गए थे.

देवर जी ने मेरी साड़ी निकाल दीए और मैं ब्लाउज और पेटीकोट में हो गई थी, फिर मेरी ब्लाउज निकाल दी मैं ब्रा पहनी थी, वह मेरी चूची मेरी ब्रा के ऊपर से दबाने लगे और मैं भी उनका लंड अपने हाथों से सहलाने लगी. उसके बाद उन्होंने मेरी पेटीकोट भी निकाली और मैं ब्रा और पैंटी में हो गयी.

मेरी चूची और गांड देखकर मेरे देवर जी एकदम गरम हो गए और मेरी ब्रा और पेंटी निकालकर मेरी चूची और चूत दोनों चूसने लगे और मैं भी बहुत गरम हो गई और मेरे देवर जी मेरी चूत को चूसने लगे मैं एक बार झड़ गई अपने देवर के मुह पर और देवर जी ने मैं मेरा सारा पानी पी लिया और अपना लंड मुझे चूसने के लिए कहा..

मैं उनका लंड नहीं ली तो वह मुझे जबरदस्ती भी नहीं किया और उसके बाद मैं अपने देवर जी को किस करने लगी, और देवर जी मुझे किस कर रहे थे और मैं अपने देवर जी का लंड को अपने हाथ में लेकर हिला रही थी, और वह एक बार झड़ गए और अपना सारा माल मेरे बेड पर गिरा दिया.

और उसके बाद में अपने देवर जी को एक कंडोम निकालकर दिया और उनको अपने लंड पर लगाने को बोली, देवर जी ने कंडोम अपने लंड पर लगाया और मेरी चूत में डालने लगे. मैं बहुत दिनों से चूदाई नहीं थी इसलिए मेरी चूत थोड़ी कसी हुई थी और देवर का लंड मेरी चूत में नहीं जा रहा था, देवर जी ने मेरी दोनो चुचियों को कस के पकड़ कर अपना लंड चूत में डाल दिया और मेरी चीख निकल गई..

उसके बाद देवरजी मुझे चोदने लगे और मैं भी अपनी गांड उठा कर अपने देवर जी का लंड अपनी चूत में ले रही थी और मेरे देवर की मुझे बहुत जोर से चोद रहे थे, और अपना लंड मेरी चूत में पूरा डाल रहे थे. अब मैं सातवें आसमान पर थी और अपने देवर जी का लंड से चूद रही थी और मेरे बेडरूम में आवाज आ रही थी.

हम को चूदाई करते करते २० मिनट की चूदाई के बाद झड़ गए और हम दोनों एक दूसरे को किस करने लगे और उस ने मुझे घोड़ी बना दिया और पीछे से मेरी चूत में अपना लंड डाल कर मुझे चोदने लगे. मुझे चूदाई में खूब मजा आ रहा था क्योंकि मैं बहुत दिन से चूदाई नहीं थी, वह मुझे घोड़ी बनाकर चोदने लगे.

उन्होंने मेरी गांड को पकड़कर मुझे जोर से चोदने लगे मैं भी अपने देवर जी का लंड अपनी चूत में लेकर चूदवा रही थी, हम दोनों खूब चूदाई कर रहे थे और हम दोनों चूदाई करते करते एक बार और झड़ गये और मुझे थोड़ा आराम मिला और उसके बाद हम दोनों लोग हर रोज चूदाई करने लगे.

अभी भी हम दोनों खुबी चूदाई करते हैं देवर जी मुझे रोज चोद देते हैं और मैं भी बहुत खुश हूं क्योंकि मेरे हस्बैंड मुझे कभी-कभी चोदते हैं और वह अपने काम में बिजी रहते हैं देवरजी रोज चूदाई करते हैं, आपको अपनी अगली कहानी में बताऊंगी कैसे मेरे देवर जी ने मेरी गांड भी मारी.

और हम दोनों लोग कैसे चूदाई का मजा लेते हैं और बहुत सारी कहानियां हे. मैं अपने कॉलेज में भी चूदाई थी, मुझे चूदाई में बहुत मजा आता है और अगर आपको सेक्स करने का कोई टिप्स चाहिए तो आप को मैं बताऊंगी.

क्योंकि मैं बहुत सारे लंड से चूदी हुई हूं और बहुत सारे लोग मुझे मेसेज करते हैं और मुझे चोदने के लिए टिप्स पूछते हैं और अगर आप भी पत्नी को चोदना चाहते हैं या फिर अपनी गर्लफ्रेंड को चोदना चाहते हैं और अगर आप चुदाई  बहुत देर तक करना चाहते हैं, या कोई लड़की को पटाना चाहते हैं तो मैं आपको टिप्स दे सकती हूं, मैं बहुत सारे देवर जी को टिप्स देती हु.

आप प्लीज मेरी हेल्प करिए और सेक्स की एडवाईस दीजिए, मैं भी आपको सेक्स कि एडवाइस दूंगी, आप सभी देवर जी को सीमा भाभी की तरफ से एक किस और आप मुझे मेल करिए, में आप के मेल का इंतजार करूंगी, आपकी सीमा भाभी एक और नई कहानी बताएगी और आप सब को मेरा प्यार..