चेलेंज भी पूरा किया और मज़े भी लिए

प्रेषक : आदी

हैल्लो दोस्तों मेरा नाम अनुज है और में एक कम्पनी में काम करता हूँ और स्विमिंग और बॉडी बिल्डिंग मुझे पसंद है। दोस्तों ये बात है हम तीन दोस्तो की में यानी अनुज मेरा दोस्त आलोक और प्रशांत, हम तीनो एक ही कम्पनी में अलग अलग डिपार्टमेंट में काम करते है। लेकिन हम तीनो बहुत पक्के दोस्त है, बहुत समय से और वैसे तो हम अलग अलग काम करते है, लेकिन हमारा एक शोक बहुत मिलता है। वो है लड़कियो के साथ मजे करना, मस्ती और सेक्स करना।

हम कई बार एक दूसरे के साथ शेयर भी करते है, अगर लड़की अपनी मर्जी से चाहे तभी, लास्ट समय मे हमने प्रशांत की वाईफ के साथ भी मजा किया था। वैसे तो प्रशांत उम्र में हम सभी मे बड़ा है। उसकी उम्र लगभग 31 की है, आलोक 27 और में 25 साल का हूँ। दोस्तों ये बात आज से कुछ महीने पहले की है। जब आलोक की शादी हुई थी लेकिन हमने कभी भी उसकी वाईफ पर ट्राई नहीं किया था। क्योंकि दबाव में ये सब काम करना हमे भी अच्छा नहीं लगता था और ठीक भी नहीं है। अब कुछ दिनो पहले हम तीनो क्लब में बैठे हुए थे हमारे बीच मे कोमन बाते हो रही थी।

प्रशांत : यार, हमने इतनी सारी लड़कियां चोदी है, तो फिर ये शादी क्यों करनी पड़ती है।

में : लेकिन तुम कहाँ मानते हो जब कहो तब शादी के लिये तैयार हो जाते हो।

आलोक : अरे नहीं, शादी तो होनी ही चाहिए वरना जिन्दगी क्या ऐसे ही गुज़ार दें। बिना किसी सहारे के जिन्दगी जीना बहुत मुश्किल है।

प्रशांत : अबे अभी तेरी नयी नयी शादी हुई है, इस लिये लड़कियो को भी इसी तरह की इच्छा होती है समझे, कुछ दिनो बाद तेरा भी मन होगा और तू कहेगा कि बोल करनी है सोनल की शेरिंग।

आलोक : हे प्रशांत, तुम बड़े हो इसलिए कुछ भी मत बोलो, तेरी बीवी की शेरिंग कराई तो तू क्या समझता है, कि क्या सबकी बीवी ऐसी होती है।

प्रशांत : अबे तू इतनी सी बात पर भड़क क्यों रहा है, में तो सिर्फ बोल ही तो रहा हूँ, तेरी बीवी को सही मे चोद थोड़ी रहा हूँ।

में : अरे फ्रेंड्स, ये क्या हो रहा है तुम झगड़ा क्यों कर रहे हो।

आलोक : अरे तू खुद देख लेकिन ये बात ही ऐसी करता है।

में : आलोक, वो सिर्फ बोल रहा है, चोद नहीं रहा है और ये कोई तेरी बीवी की बात नहीं है। अच्छा चल तू बता तेरी उम्र क्या है।

आलोक : मेरी उम्र 27 साल की है लेकिन उम्र का इस बात से क्या रिश्ता।

में : तू बस तू चुपचाप जवाब देता जा, अब बता तूने पहली बार कब सेक्स किया था।

आलोक : तकरीबन 18 साल की उम्र में लेकिन।

में : में ये ही कह रहा हूँ, तूने भी कभी किसी को चोदा है। हमने कितनी लड़कियों की सील तोड़ी है, कितनो के साथ सेक्स किया अरे याद है तुमने तो तेरी पड़ोसन जो प्रेग्नेंट थी, उसे भी नहीं छोड़ा था। ये होता है यार अब सभी फ्री है, अरे सोचो 60% लड़कियां स्कूल के टाईम पर ही चुद जाती है, बाकी कॉलेज टाईम में और ये उनकी मर्ज़ी है, हम लड़के बहुत कम चुदाई करते है।

प्रशांत : ये बिल्कुल सही कहा अनुज तूने।

आलोक : तो क्या दुनिया मे सभी लड़कियां रंडी होती है।

में : अरे पहले तू बात को ध्यान से सुन, तू हर बात को नेगेटिव ही क्यों लेता है, में तो यह कह रहा हूँ कि जब हमे सेक्स करने की इच्छा होती है तो उन्हे क्यों नहीं हो सकती, मतलब ये रहता है कि शादी के बाद एक दूसरे के लायक रहो अगर तुम रह सकते हो तो और अगर सेक्स एक्सपेरिमेंट्स करना हो तो तुम दोनो की मर्ज़ी और सेक्स करना कोई गुनाह नहीं है। जब उम्र होती है तो सेक्स करने की इच्छा भी तो होगी ही। अब सोनल की बात हो या कोई और 25 साल तक कोई बगेर सेक्स के कैसे रहेगा। तू आगे का सोच और वो ही एक्सपेक्ट कर जो तुझ पर भी लागू हो सकता है।

प्रशांत : आलोक तू साले चुदक्कड जैसा है, हर लड़की को अपने बेड पर देखता है और साले सती सावित्री की एक्सपेक्टेशन रखता है।

आलोक : अरे नहीं यार सोनल ऐसी नहीं है। चेलेंज देता हूँ अगर सोनल को चोद सको तो, शर्त सिर्फ़ इतनी है कि वो भी तुम्हारी बात पर तैयार होनी चाहिए दबाव में कुछ नहीं होगा, बोल अनुज।

प्रशांत : ये नहीं समझेगा अबे ये तेरी अकेले की बीवी की बात नहीं, कोमन बात है। छोड़ अनुज, ये बेकार में अपना घर तुड़वाएगा।

आलोक : नहीं तोड़ूँगा घर, हाँ दोबारा ऐसा होने नहीं दूँगा, लेकिन में तुम दोनो को ग़लत साबित जरुर करूँगा जल्दी ही।

में : चल डन पर उसे हमसे बात करने से तू नहीं रोकना।

आलोक : ठीक है, लेकिन कोई भी काम दबाव में बिल्कुल नहीं, समझे।

में : ठीक है डन।

प्रशांत : तू फिर उसे कहीं घर से निकाल तो नहीं देगा ना याद रखना।

आलोक : तुम इस बात की चिंता मत करो ऐसा कभी भी नहीं होगा।

प्रशांत : तो फिर डन ठीक है।

लेकिन वहाँ पर से आलोक कुछ देर बाद चला गया था और हम भी सोच में पड़ गये, की अचानक से ये क्या हुआ।

अब में दोस्तों आपको सोनल के बारे में कुछ बताता हूँ। दोस्तों उसकी उम्र 25 साल की है, सेक्सी है, बहुत टाईट माल है 32-26-30 का फिगर है, गौरी और पतली है और दिखने मे भी ठीक ठाक है लेकिन मजेदार है।

अब मैने एक प्लान बनाया। हम दोनो एक ही जिम में जाते है, लेकिन उस जिम में थोड़ा काम हो रहा है। तो कुछ दिनो तक वो बंद रहने वाला है, लेकिन मेरा फ्लेट बहुत बड़ा है और वहाँ पर एक छोटा सा जिम भी है तो मैने उसे अपने घर पर ही इन्वाइट किया था। मुझे ये भी मालूम था की मेरे घर पर कुछ दिनों के लिये कोई भी नहीं रहेगा में घर पर अकेला ही रहूँगा, तो क्या था अब मुझे मेरा प्लान पूरा होता दिख रहा था।

अब मैने उसे मनाया घर पर आने के लिये, लेकिन थोड़ा मानने के बाद वो मान गयी। शुरुआत में तो हम आम एक्सर्साइज़ ही करते रहे, और आस पास की बाते करते थे और प्रशांत भी वहाँ आने लगा था, लेकिन कोई ऐसी बात नहीं बनी फिर में सोनल को जिम करने के नये नये तरीके बताने लगा था, जो मैने किसी मेगज़ीन से पढ़ा कर बताए थे और में उसको ऐसे तरीक़ो से बार बार मेरी बॉडी को उसकी बॉडी से टच करके तरीके बताने लगा था, लेकिन शुरुआत में वो थोड़ी जिझक जाती थी, लेकिन में ऐसे बिहेव करता जैसे कुछ हुआ ही नहीं हो और में उसको कई बार उससे आगे की बात करने लगता था।

लेकिन उसे भी लगा की ये सिर्फ़ एक्सर्साइज़ के बारे में ही बताता है। जब कि में उसे बार बार टच करके उसे गर्म करने की कोशिश ही कर रहा था। कई बार उसके हाथ अपने हाथ में ले लेता, तो कई बार उसके पीछे ऐसे खड़ा रहता जिससे उसकी गांड को मेरा लंड टच कर सके। अब में पॉर्न मॅगज़ीन भी वहाँ पर रखने लगा था ताकि उसे इस काम मे इंटरेस्ट आने लगे। अब में जब भी वॉशरूम में होता, वो ज़रूर ट्राई करती थी। एक दिन में अचानक वॉशरूम से जल्दी से वापस आ गया, जब वो पॉर्न मॅगज़ीन पढ़ रही थी। तभी उसने मुझे देखकर एकदम से वो नीचे रख दी।

में : ये ठीक है सोनल तुम पढ़ सकती हो।

सोनल : नहीं में तो सिर्फ़ ऐसे ही देख रही थी।

में : अरे तुम क्यों शरमाती हो तुम छोटी बच्ची तो नहीं हो।

सोनल : तो तुम क्या जानते थे की में इससे पढ़ रही थी।

में : हाँ, और बहुत कुछ जानता हूँ डियर।

सोनल : क्या कैसे में सब जानता हूँ सोनल, अरे हम लोग एक अच्छे दोस्त है।

सोनल : लेकिन फिर भी।

में : जब तुम पढ़ते पढ़ते अपने हाथ को पैरो के बीच।

सोनल : ये तुम्हे कैसे पता चला।

में : मे सब ऐसे ही डोर के पास था।

सोनल : बस अब मुझे घर पर जाना चाहिए।

में : आओ सोनल में किसी को बताने वाला नहीं हूँ और वैसे इसमे ग़लत क्या है?

सोनल : में तो बस इसलिए पढ़ रही थी, कि आलोक कम्पनी के काम से बाहर है और में घर पर बिलकुल अकेली हूँ।

में : तो क्या हुआ में तो हूँ यहाँ पर।

सोनल : स्टॉप इट अनुज, तुम भी क्या। अब मैने टी-शर्ट निकाल दी थी और मेरी बॉडी बहुत अच्छी जिम बॉडी है।

में : डोंट वोरी सोनल में जानता हूँ कि तुम भी ये ही चाहती हो।

सोनल : देखो अनुज, ये बहुत गलत बात है।

में : क्या तुम्हे सेक्स नहीं करना, क्या में अच्छा नहीं लगता, इसमे कुछ भी ग़लत नहीं है।

अब वो धीरे धीरे मानने लगी थी।

सोनल : लेकिन तुम ये बात किसी को बताना नहीं कि आज हमारे बीच मे क्या हुआ था।

तभी मैने उसके दोनों हाथ पकड़ कर उसे दीवार की और सटाकर खड़ा कर दिया और अब में उसके चहरे के एकदम नज़दीक अपना चेहरा ले गया, जैसे अब में उसको किस करना चाहता हूँ, अब हमारी साँसे एक दूसरे से मिल रही थी वो बहुत हाँफ रही थी। में बार बार अपने होठो को उसके होठो के पास लाता लेकिन मैने किस नहीं किया था, में अब चाहता था कि वो खुद पहले शुरुआत करे। अब कुछ देर बाद वही हुआ उसने अपने होठो को मुझमे समा दिया और अब हम स्मूच करने लगे थे। तभी मैने मौका देखकर उसका टॉप उतार दिया और मैने अपना लोवर भी निकाल दिया और अब में उसके बूब्स को दबाने लगा और स्मूच जारी था। अब कुछ देर बाद में मैने उसके बूब्स को सक करना शुरू कर दिया था। दोस्तों उसके निप्पल बहुत बड़े, टाइट हो गये और अब वो भी बहुत गर्म हो चुकी थी।

अब मैने सोनल को नीचे से भी पूरे कपड़े उतार कर नंगा कर दिया और हम अब दोनो दीवार से बिल्कुल चिपक कर एक दूसरे में खो से रहे थे और अब मेरा लंड बहुत तना हुआ था, ये सोच सोच कर ही बहुत टाईट हो गया था। मैने खड़े खड़े ही उसे अपनी कमर पर उठाया और दीवार से सता कर अपना 9 इंच का लंड उसकी चूत में डाल दिया था ऐसे ही।

सोनल : ओह प्लीज़, अनुज ओह धीरे डालो आह्ह्ह

में : आओ आज सेक्स करो मेरे साथ सेक्सी गर्ल, में बहुत दिनों से तुम्हारे इंतजार में था तुम बहुत टाईट हो।

सोनल : अह्ह्ह्ह धीरे अनुज ये बहुत बड़ा है होह्ह्ह्ह में मरी अनुज।

में : क्यों डार्लिंग, क्या आलोक का लंड इतना बड़ा नहीं है?

सोनल : नहीं सिर्फ़ आलोक नहीं मैने पहले इतना बड़ा लंड नहीं लिया है। ओह चोदो मुझे तेज और ज़ोर से।

में : ओह ऐसे अभी नहीं, सेक्स आराम से डियर।

सोनल : उउउन्हा ओह चोदो प्लीज़ और ज़्यादा जोर से, में इतने दिन से अकेली ही तड़पती रही। अब मैने बहुत देर तक जमकर जोर जोर से धक्के लगाए और अब हम दोनो ही एक दूसरे में खो गये थे। अब में जोर जोर से धक्के देने की वजह से कुछ देर बाद हम दोनो एक साथ ही झड़ गये और लिपट कर वहाँ पर ही ज़मीन पर लेट गये। ओहहह अब में क्या एक्सप्लेन करूं क्या मज़ा आया था। मुझे उसे खड़े खड़े वहाँ पर चोदने में।

अब कुछ ही देर हुई थी की प्रशांत भी अंदर आ गया था। उसके पास मेरे फ्लेट की एक चाबी हमेशा होती है।

सोनल : में एकदम से डर गयी थी डोंट वोरी डियर।

प्रशांत : ओह क्या चल रहा है यहाँ पर वाह क्या सीन।

सोनल : प्लीज़ तुम किसी को मत बताना।

प्रशांत : ओह नहीं डियर यह तुम्हारी मर्जी है, में इस काम मे कोई इंटर्फियर नहीं करूं, लेकिन अगर तुम मुझे भी चान्स दो तो।

सोनल : ओह नहीं यह कॉमन है।

में : ओह प्लीज़ डियर, मज़ा आएगा में भी रेडी हो गया हूँ।

अब सोनल की हाँ देखकर प्रशांत ने भी जल्दी से अपनी टी-शर्ट उतार दी थी और पेंट भी, तभी में सोनल को उठाकर बाथरूम मे शवर मे ले आया और प्रशांत भी वहाँ पर आ गया था। तभी मैने शावर चालू कर दिया और हम दोनो पसीने से भीगे हुए थे तो अब फ्रेश हो गये और प्रशांत ने सोनल के साथ स्मूच करना शुरू कर दिया था।

अब प्रशांत बहुत वाइल्ड्ली उसे स्मूच कर रहा था और में भी सोनल के पीछे खड़ा होकर अपने दोनों हाथो से उसके बूब्स को जोर जोर से दबा रहा था।

प्रशांत : सोनल आओ सेक्सी, पकड़ो मेरा लंड।

सोनल : में दोनो का एक साथ कैसे?

में : मेरी डार्लिंग तुम लेकर तो देखो।

अब मैने उसके मुहं में मेरा लंड डाल दिया था। अब वो बारी बारी मेरा और प्रशांत के लंड को मुहं में ले रही थी। वो बहुत काफ़ी गरम हो चुकी थी और हमे भी टाईट कर दिया था शवर में हमारा चुदाई का काम चालू ही था।

में : यार सेक्सी तुम कमाल की हो।

प्रशांत : तुम्हे बहुत एक्सपेरिमेंट पसंद है।

सोनल : हाँ, लेकिन कभी मुझे मौका ही नहीं मिला था।

में : ओह डियर, तुम आलोक से बात तो करो प्लीज।

सोनल : नो कभी नहीं और तुम भी नहीं बात करना, मुझे ऐसा एक्सपीरियेन्स बहुत पहले हुआ था। जब कॉलेज मे मोहित ने चोदा मतलब सेक्स किया था।

में : वाउऊ चोदना, जैसे शब्द और भी सेक्सी लगते है, जब तुम बोलती हो तो।

प्रशांत : सही है सोनू बेबी।

सोनल : हाँ वो ऐसे ही बाते करता था।

में : हँस के क्यों मेरी रानी तेरी चूत को और ज़्यादा रंगिनियत से चोदते और हँसते हुए, अब प्रशांत ने उसे उठा लिया और बाहर रूम में लेकर आया और सीधा ज़मीन पर लेटा दिया और उसकी चूत को मसलने लगा था।

प्रशांत : वाह तू बहुत लाल और टाईट हो गयी है, मेरी रांड।

सोनल : ओह अभी अनुज ने मेरी चूत फाड़ दी थी।

प्रशांत : अब मेरी बारी, मेरा माल और कहते ही उसने सोनल के पैरो को उठाकर उसकी चूत मारनी शुरू कर दी और में भी उसके बूब्स को अपने दोनों हाथो से दबा रहा था और स्मूच और किस्सिंग भी कर रहा था।

सोनल : औउहह उम्महहा प्लीज़।

अब कुछ देर की चुदाई के बाद मे ज़मीन पर लेट गया और मैने उसे मेरे तने हुए लंड पर बैठा दिया था लेकिन वो बार बार खड़ी हो जाती थी।

सोनल : अनुज नहीं, मेरी चूत क्या आज पूरी फाड़ दोगे? में तो मर ही जाउंगी।

में : अब ज़ोर से बैठाकर कहा बैठ मेरी रांड आज तो तुझे इतना चुदना है कि जैसे अभी तक तूने चुदाई देखी कहाँ है।

सोनल : नहीं आह्ह्ह ऑश आहहह और ज़ोर से और ज़ोर से चोदो।

इतने में प्रशांत उसके पीछे आकर ऐसी पोज़िशन ली की प्रशांत ने अपना लंड एक ही जोर के धक्के से सोनल की गांड में डाल दिया।

सोनल : ओह न्‍न्न्नूऊऊ प्लीज़ आह ओह शी थोड़ा धीरे, प्लीज धीरे करो में मर गई।

अब कुछ ही देर में वो भी पूरी तरह से मजे करने लगी और अब वो पूरी तरह से मदहोश होकर और ज़ोर से मोनिंग करने लगी थी। अब बहुत देर तक चुदाई के बाद हम तीनो एक एक करके झड़ गये और उसने पूरा वीर्य मुहं से चाट कर साफ कर दिया और अब हम एक साथ ही आराम से लेट गये। वो आज इस चुदाई से खुश तो बहुत थी लेकिन अब उसकी चूत और गांड मे बहुत दर्द था, वो ठीक से चल भी नहीं पा रही थी। अब दो दीन बाद, हम तीनो फ्रेंड्स फिर से एक साथ मिले।

दोस्तों ये कहानी आप AntarvasnaSex.Net पर पड़ रहें है।

में : देखा आलोक, गुस्सा मत होना पर जो बात मैने कही वो ही सही साबित हुई है।

आलोक : तेरी बात क्या मतलब?

प्रशांत : वही जो हमने बात की थी, हर लड़की की अपनी एक कहानी जरुर होती है।

आलोक : ये हो ही नहीं सकता, तुम दोनों झूठ बोल रहे हो।

तभी मैने उसे सोनल की चुदाई की वीडियो दिखा दी।

में : तू सब इस मे देख इससे तुझे सब जल्दी समझ मे आ जाएगा।

आलोक : ये साली बहुत बड़ी रंडी निकली।

में : देख, तूने ही कहा था कि गुस्सा नहीं करेगा, अब ले इस वीडियो को यहीं पर डिलीट कर देता हूँ।

तभी मैने वीडियो डिलीट कर दिया, लेकिन उसे इससे बहुत बड़ा धक्का लगा। लेकिन मुझे पता था कि अब अंदर से उसे भी मेरी बात सही लग रही थी।

में : देख तू भरोसा कर हम पर कि ऐसा दोबारा हमारी तरफ से कभी भी नहीं होगा।

प्रशांत : आलोक, अरे हम तेरे बहुत अच्छे दोस्त है, लास्ट ईयर मैने भी मेरी वाईफ के साथ स्वेपिंग किया था, देख एक्सपेरिमेंट करने में कोई बुराई नहीं होती अगर हम सभी राज़ी हो तो।

आलोक : सालो तुम लोगो ने मेरी बीवी के साथ मेरी भी मार ली, लेकिन अब में उस पर कड़ी नज़र रखूँगा और जॉब जिसमे काफ़ी टूर का काम करना पड़ता है, उससे तो बेहतर यहाँ पर ऑफीस में ही सही हूँ।

धन्यवाद …

Leave a Reply