बीवी को चुदवाया अपने बॉस से – 2

प्रेषक : सुधीर

दोस्तों इस कहानी के पिछले भाग में मैंने बताया था कि किस तरह मैंने अपनी बीवी को मेरे बॉस के सामने नंगा किया था। अब आपके लिए पेश है इस कहानी का दूसरा भाग …

तो दोस्तों फिर राजश्री खड़ी हो गयी थी। मैंने उसके कंधे दबा के उसे सोफे के सामने ज़मीन पर बैठा दिया इस दौरान मैंने भी उसकी चूचियां दबा दी, वो मुस्कुरा कर मुझे देख रही थी।

उसका हाथ पकड़ कर उसे आगे झुका कर सर का लंड पकड़वाया और अपने हाथ से उसके सर को धक्का देकर बिल्कुल मुँह को लंड के पास पहुँचा दिया। उनका लंड उसके होंठो को छू रहा था। मैंने थोड़ा और धक्का दिया और उनके लंड का मुहं उसके मुहं मे घुस गया था।

राजश्री ने ज़्यादा विरोध किये बिना लंड को मुहं मे ले लिया और चूसने लगी। शायद अब उसे पूरी तरह से मज़ा आने लगा था। शुरू शुरू मे उसने सिर्फ़ लंड का मुहं चूसा पर जल्दी ही पूरा लंड मुहं मे घुसा लिया और पेशेवर रंडी की तरह उसे चूसने लगी थी। अब उसे यक़ीनन बहुत मज़ा आ रहा था।

कुछ देर लंड चुसवाने के बाद सर ने उसे ऊपर खींचा और सोफे पर लिटा दिया। में समझ गया कि अब वो उसकी चूत चाटेंगे। वो अपने सर को सोफे कि साईड पर टिका कर चित लेट गयी और मैंने उसकी दोनों टाँगे फैलाई और घुटनो से मोड़कर उन्हे ऊपर कर दिया ताकी चूत सर को साफ दिखाई दे।

मोटी मोटी जाँघो के बीच उसकी मुलायम चूत देखकर सर के मुहं मे पानी आ गया था और वो प्यार से उसकी चूत पर हाथ फेरने लगे थे। राजश्री को जीवन मे पहली बार अपने पति के सामने पति के अलावा आज किसी और ने नंगा देखा था।

अब मेरे हाथ अनायास ही उसकी फूली हुई बिना बाल की चूत पर चले गये। उसे सहलाने के बाद मैंने खुद को रोका और आज उसे चोदने का हक मैंने सर को दे रखा था। मेरे लिए तो सारी जिंदगी पड़ी है मैंने सर का हाथ उसकी चूत पर रख दिया हाथ रखते ही राजश्री ऊपर उछल गयी थी।

डार्लिंग क्या रसीली चूत है तुम्हारी एकदम मक्खन की तरह है। अब सर ने उसकी चिकनी चूत को अपनी हथेली से सहलाना शुरू किया और अब राजश्री सिसकारीयां भरने लगी थी। अब सर ने राजश्री के हाथो को ऊपर सर की तरफ बाँध दिया और उनकी पीठ के नीचे एक तकिया रख दिया जिससे उसकी कमर ऊपर हो गई और गर्दन थोड़ी पीछे हो गई थी।

अब राजश्री किसी कबूतरी की तरह शिकारी के जाल में थी और हिल भी नहीं सकती थी। अब सर उसकी चूची मसलते हुए कहने लगे आप शरमाए नहीं आपकी चूत एकदम नई दुल्हन की तरह टाइट है क्या आप रोज नहीं चुदती है?

राजश्री शरमाते हुए बोली नहीं महीने मे दो तीन बार ज्यादा में मुँह से चुदकर ही काम चलाती हूँ चूत में लंड तो कभी कभी डलवाती हूँ।

अब वो चूत पर फिर उंगली फेरने लगे थे। मैंने हाथ आगे बड़ाकर उसकी चूत को और खोल दिया और वो उसके चारो तरफ सहलाते रहे। बीच बीच मे उंगली थोड़ी सी अंदर भी घुसा देते थे। फिर वो थोड़ा झुके और चूत को चाटने लगे थे।

मैंने उसकी टाँगे पकड़ कर फैला रखी थी सर बहुत मस्त होकर चूत चाट रहे थे और वो भी बहुत मस्त होकर चटवा रही थी। जब उनकी जीभ चूत मे थोड़ा अंदर जाती थी तो अपने आप उसके चूतड़ कुछ उछल से जाते थे जैसे वो जीभ को लंड की तरह ज्यादा अंदर घुसवाना चाह रही थी।

तभी मैंने कहा सर अब चलिए अंदर बेडरूम मे चल कर आराम से इसे जी भर के चोद लीजिए। ऐसे शब्द सुनकर वो और मेरी बीबी भी चौंक गयी लेकिन वो दोनो उठे और बेडरूम मे चले गये। वहाँ फिर से राजश्री बेड पर चित लेट गयी और सर उसकी चूत चाटने लगे थे।

और कुछ देर चाटने के बाद वो उठे और वो अब उसे चोदने के लिए तैयार थे वो उठकर आगे आए उसकी जाँघो पर पहुँच गये। मैंने मौका देखा और उसकी चूत को खोला मेरा लंड एकदम खड़ा था मन किया सर को हटा कर खुद उस पर सवार हो जाऊं और उसे पहले चोदूं अब माहौल बहुत गरम था।

सर ने मुझसे पूछा तुम्हारा लंड कितना बड़ा है?

मैंने जवाब दिया सर आपके लंड से आधा भी नहीं है।

बॉस हंसते हुए बोले इसीलिए इनकी चूत बिना चुदी लगती है कोई बात नहीं मे इस चूत को आज फाड़ दूँगा।

यह सुनकर राजश्री सिहर उठी सर ने राजश्री को बिस्तर पर लेटा दिया और चूत को मज़े से सहलाने लगे। अब राजश्री पूरी तरह से तैयार हो गयी तो सर बोले अब चुदवाने के लिए तैयार हो जाइए। राजश्री शरमाते हुए बोली में तैयार हूँ पर थोड़ा धीरे धीरे चोदिएगा क्योंकि आपका लंड बहुत बड़ा और मोटा है।

सर ने राजश्री को पलंग पर इस तरह लिटा दिया कि उसके पैर ज़मीन पर थे और उसकी चूत पलंग के किनारे पर थी सर ने अपने लंड पर थोड़ा सा थूक लगाया और राजश्री कि जाँघो को चौड़ा कर लंड का मुहं चूत पर रख दिया था।

राजश्री अब सिहर उठी थी और मैंने एक हाथ से उसकी चूत खोली और दूसरे हाथ से उनका लंड पकड़ कर लंड का मुहं राजश्री की चूत पर रगड़ खाने लगा था।

अब उसकी चूत बेहद गीली हो चुकी थी और बेसब्री से लंड का इतंजार कर रही थी। उनके लंड को मैंने चूत के अंदर थोड़ा सा घुसाया लेकिन सर बेसब्री के साथ उसे और घुसाते चले गये और एक सेकेंड मे ही उनका पूरा लंड उसकी चूत के अंदर गायब हो गया था। अब राजश्री ज़ोर ज़ोर से चिल्लाने लगी दर्द हो रहा है अब बस करो, मगर सर ने नहीं सुना और चूत चोदते ही रहे।

पूरा लंड घुसाने के बाद वो अब उसके ऊपर लेट गये और दोनो हाथो से उसकी चूचियां मसलने लगे और मुहं चूमने लगे थे। उनका चूतड़ ऊपर नीचे होता हुआ लंड से उसकी पूरी कोख टटोल रहा था। राजश्री टाँगे फैला कर बहुत मस्ती से चुदाई का मज़ा ले रही थी।

अब अचानक सर रुक गये और मेरी तरफ मुड़ कर बोले यार सॉरी हमारे पास कंडोम तो है ही नहीं तुम्हारे पास है क्या? तभी मैंने कहा सर आप बेफ़िक्र हो कर चोदिये और चूत मे ही झड़ना बाद मे देखी जाएगी।

वो उत्साहित होकर और ज़ोर ज़ोर से धक्के लगाने लगे थे और राजश्री भी चूतड़ उछाल उछाल कर उन्हे पूरा सहयोग दे रही थी और फिर वो अचानक उसके बूब्स को ज़ोर से मसलते हुए उसके ऊपर तक निढाल हो कर रुक गये थे।

उनके चूतड़ के झटको से पता चल रहा था कि वो झड़ रहे है मेरी बीबी कि चूत मे। कुछ मिनट बाद जब उन्होने अपना लंड बाहर निकाला और उसके पास मे ही लेटे तो चूत से बहकर उनका वीर्य निकलने लगा था।

में उसकी टॅंगो के पास खड़े होकर उसकी चूत से निकलने वाले सर के वीर्य को देखता रहा और वो टाँगे फैलाए चुपचाप उसे बहने दे रही थी। चूत के आस पास की सारी चादर मे वीर्य निकल कर फैल गया था। सर धीरे धीरे उसके बूब्स सहलाते रहे।

उनका लंड अब सिकुड कर छोटा हो चुका था और थोड़ी देर बाद मैंने पूछा सर आपको मेरी बीबी को चोदने मे मज़ा आया?”

बहुत उन्होने कहा ऐसा मज़ा शायद मुझे जिंदगी मे पहली बार मिला है। मैंने कहा आप और चोदना चाहेंगे इसे? तभी उन्होंने ने सर हिलाया और कहा हाँ।

तभी मैंने कहा अभी इसकी गांड भी बाकी है सर और वो वर्जिन है।

अब सर ने राजश्री को उठाया ओर कुतिया की तरह उसकी गांड उठा दी और गांड का छेद चाटने लगे थे। अब वो बहुत खुश थे क्योंकि उन्हे कुँवारी गांड मिल रही है वो गांड के छेद में अपनी जीभ डालकर थूक से गांड को गीला कर रहे थे।

अब और छेद बड़ा करने कि कोशिश कर रहे थे। पहले उन्होने अपनी एक उंगली गांड में घुसाई फिर दो दो उंगली घुसाई और फिर सर उठे और एक डब्बे से तेल निकाला और राजश्री को दिया और कहा इसे मेरे लंड पर लगाइए राजश्री ने सर के लंड पर डब्बे से निकाला हुआ तेल डाल दिया और हाथ से मसलने लगी थी। फिर उसने ढीले लंड को हिलाया लंड कुछ देर कि मेहनत के बाद खड़ा हुआ और तभी उन्होंने लंड को राजश्री की गांड के छेद पर रख दिया था।

राजश्री बोल पड़ी प्लीज़ धीरे धीरे आपका लंड बहुत मोटा है तभी सर बोले तुम चिंता मत करो में आराम से करूँगा आपकी गांड तो बहुत टाइट है। अब सर ने लंड का मुहं राजश्री की गांड पर रख कर एक धक्का मारा। आधा लंड गांड में घुसा लेकिन दोनों को बहुत दर्द हुआ सर रुक गये थे और कुछ देर बाद फिर से उन्होंने एक और धक्का दिया लेकिन अब पूरा लंड राजश्री की टाईट गांड में घुस गया था।

एक बार सांस खींच कर जोर ज़ोर का धक्का मारा सर ने तो राजश्री की चीख निकल गयी थी आआआआ मरररर गयी में बाहर निकालो इस लंड को रीईईईई. प्लीज मेरी गांड फट जाएगी तू सुधीर खड़ा होकर मेरी चुदाई देख रहा है। मुझे बचाओ ना मरी में मर जाउंगी।

राजश्री कि गांड से अब खून आने लगा था। जैसे अभी ही नई दुल्हन कि सील टूटी हो एक हाथ से चुचियों को मसलते हुए एक और झटका दिया तो 4 इंच लंड राजश्री की गांड को फड़ता हुआ घुस गया था। राजश्री चीख पड़ी और उसकी आँखो से आंसू निकल पड़े थे। प्लीज़ मुझे छोड़ दीजिए और राजश्री ने उन्हें धक्का दिया और लंड गांड से बाहर निकल गया था।

अब उन्होने राजश्री के पैरो को ऊपर उठा दिया और दोनो हाथ से अपना लंड पकड़ कर राजश्री कि गांड मे घुसाने कि दोबारा कोशिश करने लगे और राजश्री बहुत जोर से चिल्ला रही थी प्लीज अब नहीं बाहर निकालो लंड को मुझे बहुत दर्द हो रहा है।

एक आखरी झटके के बाद सर का पूरा लंड गांड को फाड़ता हुआ जड़ तक राजश्री कि गांड में चला गया था। राजश्री रो रही थी और मुझे बहुत मज़ा आ रहा था। “आआआहह मेरी गांड भी मर गईईईई प्लीज़ निकाल लो मेरी गांड मे बहुत दर्द हो रहा है। अब में नहीं सह सकती निकालो प्लीज।

सर लेकिन उसकी दोनो चूचीयों को अपने हाथ से दबाकर धीरे धीरे लंड को अंदर बाहर करने लगे थे। उनका मोटा लंड राजश्री कि गांड मे रबर की रिंग बनाता हुआ अंदर बाहर हो रहा था।

राजश्री का चीखना चिल्लाना अब बढ़ता ही जा रहा था। जब मुझसे नहीं रहा गया तो मैं उठा और मैंने अपना लंड उसके मुँह में डाल दिया वो अभी इसके लिए तैयार नहीं थी और चौंक गयी लेकिन परिचित लंड को देखकर चूसने लगी थी। इससे उसका चीखना कुछ कम हो गया था। अब उसके दो दो छेद लंड को ले रहे थे। यह देखकर सर ने अपनी स्पीड बढ़ानी शुरू कि राजश्री सिसक रही थी लेकिन वो पूरी तरह से सर के कब्ज़े मे थी। सर ने राजश्री का पैर और हाथ जकड़ कर जानवर की तरह चोदना जारी रखा राजश्री छटपटा रही थी और मैं अपना लंड उसके मुँह में डालता रहा था।

जब सर राजश्री के पैर पकड़ कर ज़ोर से चोदते तो उसकी पायल भी बज उठती। जिससे वातावरण और भी सेक्सी हो जाता था। सर राजश्री की जबरदस्त चुदाई कर रहे थे। पूरे कमरे में सिर्फ़ फच फच स्लॉप स्लॉप के साथ पलंग कि चर्र्र्रर्रचर्ररर चर्र्र्ररर आवाज भी आ रही थी।

राजश्री अपना सर इधर उधर पटक रही थी और वो ज़ोर ज़ोर से चीख रही थी “आआआआआहह ओह मे मर गई आई आआईई छोड़ दो प्लीज मे मर जाउंगी।

लेकिन अब फुक्ल फक कि आवाज़ के साथ ही राजश्री के रोने कि आवाज़ आ रही थी सर सांड कि तरह राजश्री पर चड़े हुए थे और तेज़ी से उसको चोद रहे थे।

सर की जाँघ राजश्री कि चूतड़ो को इस तरहा धो रही थी जैसे औरत कपड़े कूटती है। सर राजश्री कि चूचियों को बहुत ज़ोर ज़ोर से मसल रहे थे। जिससे उसका दर्द और बढ़ रहा था। इस सेक्सी सीन को देखकर मेरा भी वीर्य निकल गया था। अब मैंने राजश्री के मुँह में ही अपना वीर्य निकाल दिया था।

अब धीरे धीरे राजश्री थोड़ी शांत हुई तो सर ने अपना पूरा लंड निकाल कर एक बहुत ही ज़ोर का झटका मारा जिससे राजश्री का दर्द इतना बढ़ गया और वो ज़ोर से चिल्ला उठी नहीं आहह में मर गईईईईई।

वो अपने दोनो पैरो को पटकने लगी थी जिससे मुझे लगा कि सर ने राजश्री की गांड एकदम से फाड़ दी है। 15 मिनट बहुत ज़ोर से चुदाई करने के बाद अब राजश्री को भी मज़ा आने लगा था। वो भी अपने चूतड़ धकेल के चुदाई करवाने लगी थी।

सर की स्पीड अब और बढ़ती गई सर रुके नहीं और पीछे से चोदने लगे 15 मिनट चोदने के बाद सर ने लंड निकाला और राजश्री की चूत के छेद मे रगड़ने लगे थे। अब मैंने समझा कि सर अब तो वो झड़ गये है।

लेकिन 2 मिनट तक रगड़ने के बाद फिर सर ने लंड को पकड़ कर गांड के छेद पर रख कर जोर का धक्का मारा तो आधा लंड गांड में चला गया और अब राजश्री चिल्लई “ऊ मार्गाए मार्गीए रे बचाओ मुझे।

पूरे 30 मिनट तक राजश्री को जमकर चोदने के बाद सर ने अपना वीर्य राजश्री की गांड मे भर दिया था और राजश्री के बगल मे लेट गये। अब राजश्री अधमरी हो चुकी थी और उसकी गांड पूरी फट चुकी थी और पूरी तरह फूल गई थी।

वो वैसा ही पलंग पर पेरो को फैला कर पेट के बल पड़ी थी। इसी तरह तीन घंटे चुदाई का काम चला। इतने समय मे सर ने दो बार चूत मारी दो बार गांड मारी। राजश्री भी सर का लंड चूस कर लंड का सारा पानी पी गयी और मज़े से चुद रही थी।

बाद में वो सब करके बेड पर लेट गये थे। राजश्री चूतड़ हिलाते हुए टायलेट में गयी वो पीछे से एकदम रंडी लग रही थी।

अब में मौका देखकर सर के पास गया और धीरे से बोला सर अगले हफ्ते आप लोग एक आदमी को जापान भेज रहे है। एक हफ्ते के टूर पर अगर आप मुझे भेज दें तो पूरा एक हफ़्ता जब तक में वहाँ रहूँगा और ये दिन रात आपके पास रहेगी और आप इसे जी भर के चोद लीजिएगा। आप चाहें तो यहाँ रह सकते है या फिर ये आपके घर आ जाएगी। नहीं तो में आप लोगो के लिए कहीं हनिमून पॅकेज बुक करवा देता हूँ और आप वहाँ पर मेरी बीवी के साथ ऐश कीजिये।

सर अब फ़ौरन तैयार हो गये थे। मैंने फिर कहा और सर आज रात भी यहाँ पर रुक जाइए और आज फिर से इसी बेड पर अपनी हनिमून का रिहर्सल कर लीजिए। में यहाँ पर इस आराम कुर्सी पर बैठूँगा और आपको किसी चीज़ कि जरूरत हो तो में आपकी मदद करूंगा।

सर अब इसके लिए भी तैयार हो गये थे और उस दिन वो रात भर वो बार बार मेरी बीबी को चोदते रहे और में आराम कुर्सी पर बैठ कर उन्हे मेरी पत्नी को चोदते हुए देखता रहा और सुबह चादर पर इतने दाग लगे हुए थे जैसे उस पर हफ्ते भर से कोई रंडी चुदवा रही हो सुबह राजश्री थोड़ा पैर फैला कर लंगड़ा कर चल रही थी लेकिन मुझे बहुत अच्छा लग रहा था।

दोस्तों ये मेरी सच्ची कहानी थी जो मैंने AntarvasnaSEX.net के जरिये आप लोगों तक पहुंचाई ।।

धन्यवाद …

3 comments

  1. हाउसवाईफ या लडकी मुझ स
    ेsex
    करवाना
    चाती हे तो कोल करे लडीज
    9549248921पर कवल लडीज
    करे जयपुर या अजेमर की लडीज

  2. I am a callboy Agr koi Sexy unsatisfied girl bhabhi aunty ya housewife jinke husband ya boy friend unko satisfied nahi krte h ya jinke husband ya boy friend ka Lund chhota h to vo lady mujhe mail ya contact kare m aapko full satisfied karunga m aapko upper se niche tk chatunga jeeb se pir uske bad aapki chut aur gand ke hole ko pura andr tk chatunga jeeb se pir uske bad apne Lund se chudai kruunga meri service bahut jyada best h aur safe h
    Contact. 07060966176

  3. Any unsatisfy girll or bhabi full satisfaction ke liye contact kre my whatsapp num 8295616931

Leave a Reply