बीवी ने फ्लैट की कीमत कम कराई

मैं अरुण आप सबको प्रणाम करता हूँ और एक नई स्टोरी लाया हूँ आपसब के लिए. आप सब को पता ही है कि मेरी बीवी ज्योति अपने यार से और अफ्रीकी लण्ड से मेरे सामने चुद चुकी है. मेरी बीवी की चुदाई की नई कहानी पेश कर रहा हूँ कैसे ज्योति फ्लैट के बिल्डर से चुदी और कीमत कम कराया.

ज्योति की फिगर के बारे में पता ही है कि वो हॉट सेक्सी 36 साइज की चूची और 38 साइज की गण्ड की मालकिन है. लोग उसको देख के मुठ मरते है. अब कहानी पर आता हूँ. मैं और मेरी प्यारी पत्नी ज्योति अपने सपनो के घर की तलाश में थे. कोई घर देखा पर उसकी कीमत बजट में नही आ रहे थे. लेकिन एक घर हम लोगो को पसंद आया लेकिन उसकी कीमत 40 लाख थी लेकिन हमलोग 30 से ज्यादा देने की हालत में नही थे. मैंने बैंक में भी बात की कोई लोन देने को तैयार नही था.

एक दिन हैम दोनों बिल्डर के पास गए बारिश में थोड़ा भींग भी गए थे. ज्योति साड़ी में थे हमेशा की तरह सेक्सी लग रही थी. बिल्डर और उसके पार्टनर से हमलोगों ने मुलाकात कर कीमत कम करने की मिन्नते भी की पर वो लोग नही झुके. लेकिन मैंने नोटिस किया कि दोनों की नजर सिर्फ ज्योति के बदन पर था. ज्योति भी मुस्कुराकर बिडर और उसके सहयोगी को रिझाने में लगी थी. एक बार तो ज्योति ने पल्लू ठीक करने के बहाने दोनों को चूची की झलक भी दिखाया.

आखिर में बिल्डर जिसका नाम रमेश था उसने कहा कि भाभी जी अब आप आई है तो देखते है हमलोग क्या कर सकते है. हम लोग घर आगये. घर आकर बहुत दुखी थे हम दोनों की सपनो का घर सपना ही हो रहा था. फिर मैंने कहा कि ज्योति कल फिर एक कोशिश करते है बिल्डर से मिलकर. लेकिन ज्योति ने कहा कि आप आफिस जाओ कल मैं जाती हूँ. मैं समझ गया कि ज्योति कल अपनी जवानी का जलवा दिखा के कुछ कमाल जरूर करेगी.

अगले दिन ज्योति सुबह जल्दी उठ गई. 2 घंटे में चुत और बगल के बाल साफ किया. काली रंग की जालीदार साड़ी पहनी और काली ब्रा पेंटी भी. करीब 12 बजे ज्योति बिल्डर के आफिस पहुची. आफिस में हर कोई ज्योति को खा जाने वाली नजरो से देख रहा था. बिल्डर को जैसे पता चला कि ज्योति आई है उसने तुरंत उसे अंदर बुला लिया. रूम में रमेश और उसका सहयोगी अजीत बैठा हुआ था. ज्योति को काली साड़ी में देख के दोनों के मुह खुले के खुले राह गए.

दोनों की नज़र ज्योति की खुली हुई नाभि और चूची पर ही थी. ज्योति ने दोनों को नमस्ते किया और बिल्डर रमेश से कहा कि कृपया फ्लैट की कीमत में कुछ छूट दे दीजिए हम लोग इतने पैसे नही दे पाएंगे. हमलोग गरीब है. रमेश ने कहा कि आप इतनी खुबशुरत है आप कहाँ से गरीब होंगी. आपके लिए तो कोई जान देदे ज्योति ने कहा कि बस कीमत कम कर दीजिए. अजित ने कहा कि कीमत तो कम करदेंगे मैडम पर हमारी नुकसान की भरपाई कौन करेगा. ज्योति ने कहा कि हमलोग आपका एहसान कभी नही भूलेंगे लेकिन पैसे काम करिये. रमेश ने कहा एहसान का हमलोग क्या करेंगे वैसे आप बदले में बहुत कुछ दे सकती है.

loading…

ज्योति ने कहा कि ने कहा कि अगर देने की हालत में हिती तो आपसे मांगने नही आती और पल्लू थोड़ा नीचे करते हुए लो कट ब्लाउज से आधी चूची दोनों को दिखा दिया. तब तक रमेश अपनी कुर्सी से उठकर ज्योति की कुर्सी के पीछे आगया था उसने ज्योति के कंधे पर हाथ रखते हुए कहा कि भाभी जी आप खुद बहुत मालदार है आप चाहोगी तो बहुत कुछ दे सकती हो. ज्योति की पल्लू नीचे थी सांस के साथ चूची ऊपर नीचे हो रही थी. उधर रमेश धीरे धीरे ज्योति के कंधे सहलाते हुए कहा कि भाभी जी अपनी जवानी का मजा दिला दो सब ठीक हो जाएगा. ज्योति ने नाराजगी दिखाते हुए कहा कि ये आपलोग क्या कर रहे है ये सही नही है.

तभी अजीत ज्योति के सामने खड़ा हुआ और उसकी चूची दबाते हुए कहा कि मादरचोद रंडी की तरह सज कर आई हो चुदने के लिए और अब ड्रामा कर रही हो. साली छिनार कूतिया जब पहली बार तुम्हे देखा था तभी लग गया था कि एक नंबर की चुदक्कड़ हो तुम और कई लण्ड ले चुकी हो. अब नखरे मत कर खुद भी मजे लो और हमे भी मजा दो नही तो नंगा कर यहां से भाग दूंगा और फ्लैट भी नही दूंगा. ये सुनकर ज्योति भी रंडी की भाषा बोलते हुए कहा कि हरामियों मुझे भी पता चलगाय था कि मुझे बिना चोदे तुमलोग फ्लैट की कीमत कम नही करने वाले इसलिए आज मैं पूरी तैयारी से आई हूं जितना चाहो चोद लो लेकिन आज फ्लैट का एग्रीमेंट करा के जाऊंगी वो भी अपनी कीमत पर. अपना लण्ड हिला रहे रमेश ने कहा कि अगर तुमने हमे खुश कर दिया तो फ्लैट की कीमत तुम तय करना अब रंडी की तरह शुरू हो जाओ.

रमेश और अजीत ने रिसेप्शन में फ़ोन कर बोल दिया कि किसी को रूम में ना भेजे और फिर तेजी से ज्योति की साड़ी उतारने लगे. ज्योति अब ब्लैक जालीदार ब्रा और पेंटी में थी जिसमे से ज्योति के पिंक निप्पल और चुत साफ दिख रहा था. रमेश ने अपना 7 इंच का मोटा लण्ड ज्योति की मुह में डाल दिया और अजित ज्योति की चिकनी चुत को चाटने लगा. ज्योति कुल्फी की तरह रमेश का लण्ड चूस रही थी. ज्योति की ब्लू फिल्म की रंडी हिरोईन से कम नही लग रही थी. 20 मिनट तक रमेश का लण्ड चूस कर ज्योति ने उसका पानी निकाल दिया और पी गई. अब बारी अजीत के 9 इंच मोटे लण्ड की थी.

ज्योति ने अजीत के लण्ड को चूस चूस कर झाड़ दिया. चुदक्कड़ ज्योति ने कहा कि अब तुम दोनों आओ और मेरे बदन सेखेलो चुसो और चाटो. रमेश ज्योति के निप्पल चूसने लगा तो अजित ज्योति की गण्ड में धीरे धीरे उंगली करने लगा. ज्योति मदहोश हो कर आह आह आह आह शी शी कर रही थी. रमेश ने ज्योति के पूरे बदन पर दांत के निशान के लाल कर दिया था. फिर ज्योति ने बारी बारी से अजित और रमेश के बदन को अपने जीव से चाटा. ज्योति के फोरप्ले से दोनों बेकाबू हो गए. अजित ने कहा रमेश भाई ये ज्योति ने तो जन्नत की सैर करवादी है, आज तक इतनी माल चोदा पर ऐसी रांड तो लाखों में नही मिल सकती.ज्योति की निप्पल चूसते हुए कहा कि अगर ये रांड परमानेंट रखैल बंजाये तो ऐसी रांड को तो मुफ्त में फ्लैट देदेना चाहिए.

ज्योति ने भी जोश में कहा कि अबतक कई लण्ड मैन खाया पर आप जिसतरह प्यार कर रहे हो उसका मज़ा ही अलग है. ये ज्योति रंडी आपदोनो की रखैल बनने को तैयार है. अब आप दोनों चोदोगे भी या चूसते ही रहोगे. रमेश और अजित ने कहा अब ऐसी चुदाई होगी कि जिंदगी भर याद रहेगी. ज्योति ने फिर कहा कि भोसड़ी के बकचोदी ही करोगे या चुत भी मारोगे जल्दी करो मुझसे रहा नही जा रहा है. रमेश ने ज्योति के दोनों टांगो को कंधे पर रख कर अपना 7 इंच का लण्ड एक ही झटके में ज्योति की चूत में डाल दिया ज्योति की मुह से चीख निकल गयी.

रमेश जोरदार धक्के लगा रहा था और ज्योति रंडी की तरह चिल्ला रही थी कि फाड़ दो मेरी चुत एक साथ दोनों लण्ड डाल दो इसमें. इस रांड को अपनी कूतिया बना लो. तभी अजीत ने ज्योति को कूतिया बनाया नीचे से रमेश चुत मार रहा था तो अजित ने थूक लगा कर अपने 9 इंच लण्ड को ज्योति की गण्ड में डाल दिया. ज्योति की आंखों से आंसू आगये. ज्योति चीख रही थी तो रमेश और अजित ज्योति की चूत और गण्ड मार रहे थे. आधेघंटे तक ज्योति 5 बार झाड़ चुकी थी. फिर दोनों ने ज्योति के बदन पर ढेर सारा माल छोड़ दिया. तीनो के चेहरे पर चुदाई की खुशी दिख रही थी. थोड़ा आराम करने के बाद रमेश और अजित ने एक राउंड और चोदा ज्योति को. शाम के 6 बज गए थे. तीनो ने साथ नहाया बाथरूम में ही ज्योति ने एक बार फिर रमेश और अजित का लण्ड चूस कर झाड़ दिया फिर तीनो तैयार होगये.

रमेश ने अपने पीए को बुलाया और कहा कि मैडम के फ्लैट का एग्रीमेंट तैयार करलो और कीमत की जगह खाली रखना. 15 मिनट में एग्रीमेंट तैयार था रमेश और अजीत ने कहा कि ज्योति आज तुमने हम दोनों को खुश कर दिया है अब वादे के अनुसार तुम्हारे फ्लैट की कीमत 40 से घटा कर 32 कर देते है. ज्योति ने कहा कि वादा ये था कि कीमत तय मैं करूंगी अगर आपलोग खुश हुए तो. इसलिए फ्लैट की कीमत में भरूँगी 25 लाख. रमेश ने कहा बहुत नुकसान हो जाएगा तो ज्योति ने कहा कि नुकसान की भरपाई के लिए मैं हूँ ना. इसके साथ ही तीनो हस पड़े.

तभी ज्योति खड़ी हूई और अपने फ्लैट का एग्रीमेंट ले कर दोनों के पास गई और दोनों का लण्ड दबाते हुए ज्योति ने कहा कि रमेश बाबू ये एग्रीमेंट तो आज की चुदाई के नाम लेकिन परमानेंट रखैल की कीमत मुफ्त फ्लैट कब मिलेगी. अजित ने तपाक से कहा भाई बहुत बड़ी वाली मादरचोद रांड है पूरी कीमत वसूलेगी. रमेश ने बोला कि वादा पूरा करूंगा रंडी ये एग्रीमेंट आज छोड जाओ कल अपने फुद्दू पति के साथ आना अपने दोनों वादे पूरे करूंगा.

करीब 8 बजे रात को ज्योति घर पहुची 6 घंटे की जबरदस्त चुदाई का एहसान उसके चेहरे पर दिख रही थी. मैंने पूछा बहुत देर हो गई कुछ काम बना. ज्योति ने कहा कि बहुत देर के बाद शाम को मुलाकात हुई. बहुत मिन्नते की कल बुलाया है फाइनल करने के लिए. अगले दिन हमदोनो बिल्डर से मिलने पहुचे. रमेश ने कहा कि भाभी जी अच्छा हुआ कि कल आप आगयी थी रमेश ने मुझसे कहा कि अरुण जी हमलोगों ने तय किया है कि आपको फ्लैट में छूट देंगे लेकिन बुरा मत मानियेगा आपकी वाइफ किसी फिल्मी हिरोईन से कम नही है हमलोग चाहते है कि वो हमारी कंपनी की एड फ़िल्म की हिरोइन बने. मैं कुछ बोलता उससे पहले ही रमेश आंख मरते हुए एग्रीमेंट की पेपर्स सामने रखा उन्होंने कहा कि जो फ्लैट पसंद किया उसकी कीमत 25 लाख लगाई है और एड फ़िल्म के बदले एक घर मुफ्त.

ज्योति ने दोनों को धन्यबाद किया. मैंने पूछा क्या करना होगा तो रमेश ने बोला कुछ नही फ़िल्म की शूट के लिए एक महीने के लिए विदेश जाना होगा. मैं कुछ बोलता उससे पहले ही ज्योति ने हामी भर दी.

एक महीने के लिए ज्योति उनके साथ विदेश गई जब वापस आई तो 30 सेकेण्ड की एक फ़िल्म थी जिसमे 5 सेकेण्ड के लिए ज्योति दिखी. और उस 5 सेकेण्ड के बदले पूरे एक महीने ज्योति रमेश और अजीत की रखैल बनकर चुदती रही. और हमलोग दो फ्लैट के मालिक बन गए!!!!

आप को ज्योति की सेक्स कहानी कैसी लगी? उसकी और तिन कहानियाँ हमने पहले भी एड की हैं. उसे पढने के लिए नीचे क्लिक करें.