भाबी खुद आकर चुदा गयी

हेलो एवरीवन, मैं आपका नया दोस्त अर्जुन आया हु Antarvasna Kamukta Indian Sex Hindi Sex Stories Chudai आपके लिए एक स्टोरी लेकर आया हु, जोकि मेरे जीवन में घटी हुई एक घटना है. मैं नया – नया ऑथर हु, इसलिए मैं नहीं चाहता; कि मैं आप सब लोगो को निराश करू. मैं फेक या कॉपी स्टोरी को पढ़ – पढ़ कर बोर हो गया हु. तो मैंने सोचा, कि आपको कुछ नया पढ़ने के लिए मौका दू. मैं अपने बारे में बता दू, मेरी ऐज २४ इयर्स है और मैं गोरखपुर का रहने वाला हु. मेरे लंड का साइज़ ६.५ इंच है और मेरी हाइट ६ फिट है और मैं मस्कुलर बॉडी का हु और मेरा रंग फेयर है. कुलमिला कर भगवान् ने दिखने के डिपार्टमेंट में अच्छा दिया है. मुझे कहानी पढ़ने के बाद, अपना फीडबैक जरुर दीजियेगा. अब मैं आपको ज्यादा बोर नहीं करता हु और सीधे स्टोरी शुरू करता हु. ये बात २ महीने पहले की है.

मेरी एक कर्टेन और बेडशीट की शॉप है और हम अपने टेलर को कस्टमर के घर भेजते है माप लेने के लिए. एक दिन मेरा टेलर मास्टर छुट्टी पर था, उसकी बीवी की तबियत ख़राब थी. उसी दिन संजोग से एक कस्टमर आई. उनका नाम सुमन था. देखने में वो बहुत ही हॉट थी. एकदम स्लिम और गोरी सी.. फिगर काफी मैन्तैनेड था उनका. जब वो शॉप पर आई, मैं तो बस उन्हें देखता ही रह गया. उन्होंने साड़ी पहनी थी ब्राइट येलो कलर की, बैकलेस ब्लाउज.. साड़ी उन्होंने नेवल के नीचे पहनी हुई थी. ऐसा लग रहा था, कि मानो स्वर्ग से उतर के अभी आये है. उन्हें देख कर लगा था, कि वो २५ – २६ साल से ज्यादा नहीं होगी. नेवली मैरिड थी वो शायद. मैंने अपने स्टाफ को इशारा किया, वो साइड हो गया और मैं खुद ही उनको डील करने लगा. उन्होंने कहा, कि मुझे कर्टेन बनवाने है अपने बेडरूम के लिए अर्जेंट में. मैंने कहा – मैडम मैं आपको कर्टेन की डिलीवरी परसों तक ही दे सकता हु. आज हमारे टेलर मास्टर छुट्टी पर है.

उन्होंने कहा, मुझे कल तक ही चाहिए. तो मैं ने कहा, कि ट्राई कर सकता हु. मैंने उनसे उनकी वाल का कलर पूछा. तो उन्होंने पर्पल बताया. मैंने उन्हें बादामी कलर सजेस्ट किया और उन्हें वो पसंद आ गया. तब तक उन्हें देख कर मेरा बुरा हाल हो चूका था. मैंने अपने घुटने मोड़ लिए अपना इरेक्शन छुपाने के लिए. तो मैंने उनसे पर्दों का साइज़ पूछा, उन्होंने कहा, कि आप खुद माप ले लीजिये. तब मैंने उन्हें रात को ८ बजे का टाइम दिया. उन्होंने मुझे अपना एड्रेस एंड फ़ोन नंबर दिया और कुछ एडवांस भी दे दिया. फिर वो चली गयी. अब मुझे रात का इंतज़ार था. उन्होंने देखने का. मैं उनके घर के पास पंहुचा और उन्हें फ़ोन किया. उन्होंने कहा, कि मैं नीचे आती हु. तब तक कुछ ठंडी हवाए चलने लगी थी. मौसम ख़राब होने वाला था. वो आ गयी और मैं उनके पीछे – पीछे उनके घर तक जाने लगा और मैंने उनके बेडरूम में पर्दों के माप लिया. तब मेरी नज़र ड्रेसिंग टेबल पर पड़ी हुई उनकी ब्रा पर पड़ी. वो रेड कलर की थी. तब मुझे पता चला, कि भाभी ने नाईटी के अन्दर ब्रा नहीं पहनी हुई थी.

मैंने उनसे पूछा, कि आप घर में अकेले ही रहती है. तो उन्होंने कहा – मैं अपने पति के साथ रहती हु. वो ७ दिनों के लिए मुंबई गए है. ३ दिन बाद आयेंगे. उस दिन हमारी अनेवेर्सरी भी है. तो मैं उन्हें सरप्राइज देना चाहती हु. तो मैंने कहा – आप चिंता मत कीजिये. परदे परसों तक हर हाल में आपके पास परसों तक आ जायेंगे. मैं अपनी ख्वाइश को अधुरा छोड़ कर वहां से जाने लगा, कि तभी मुझे खिड़की के बंद होने की आवाज़ आई और तेज आंधी चलने लगी. पुरे घर में धुल उड़ने लगी. हम दोनों ने जल्दी से सारी खिड़की बन करी और भाभी ने कहा, कि आप थोड़ी देर रुक जाईये, बाद में चले जायेगा. मैं तो ख़ुशी से फूला नहीं समां रहा था. मैं वहां बैठ गया. वो बोली – वो बोली मैं कपड़े लाना भूल गयी हु और दौड़ कर ऊपर छत पर चली गयी. वो कपड़े लेकर वापस आई और उनकी आँखे बंद थी. उनकी आँखों में शायद कुछ चले गया था. मैंने उनकी आँखों को खोल कर एक फूंक मारी. तो उन्होंने दूसरी को इशारा किया. उनके होठो मेरे होठो के एकदम पास थे. मैं उनकी सासों को महसूस कर सकता था.

तभी बिजली कड़की और जोर से बरसात होने लगी. मैंने टाइम देखा, तो १०:४५ हो चुके थे. तब भाभी बोली, कि आप आज रात यहीं रुक जाए. कल सुबह चले जाना. तो मैंने अपने घर पर इन्फॉर्म कर दिया, कि मैं अपने एक दोस्त के घर पर हु. नहीं आ पाउँगा. और मैंने भाभी से एक लोअर माँगा, तो उन्होंने मुझे अपने पति का लोअर दे दिया. मैंने चेंज दिया और बाहर आ गया. तब भाभी ने कहा – मैं भी चेंज करके आती हु. उन्होंने अभी जो नाइटी पहनी थी, उस पर पूरी की पूरी मिटटी लगी हुई थी. वो चेंज करने चली गयी. उन्होंने पूरा दरवाजा बंद नहीं किया उनके रूम का. उनके रूम का मिरर मुझे दिख रहा था. जैसे ही वो मिरर के सामने आई और अपनी नाइटी को ऊपर करके उतारने लगी. तब मुझे उनके बूब्स के दर्शन हो गये. उनके बूब्स का साइज़ ३४ का होगा. उनकी चिकनी नेवल साफ़ दिख रही थी. ओह.. माय गॉड… मन किया.. बस पीछे से जाकर एकदम से पकड़ लू. पर मैंने अपने आप को कण्ट्रोल किया और देखने लगा. तब उन्होंने अपनी गाउन निकाली और तवो थोड़ी हाइट में छोटी थी और थोड़ी डीप बेक थी और विदोउट स्लीव थी. जब वो ये पहन कर बाहर आई, तो क्या जबरदस्त कयामत लग रही थी. मैंने तभी उस रात में उनको चोदने का मन बना लिया था. उनकी हरकतों से भी लग रहा था, कि उनकी चूत भी फुदक रही है और वो भी चुदवाने के लिए बेताब है. फिर वो डिनर गरम कर के लायी. हम डिनर कर रहे थे. तब वो कुछ पूछने लगी. आपकी कोई गर्लफ्रेंड है.. तो मैंने कहा – हाँ है.

भाभी – क्या कभी उसके साथ संभंद बनाये है?

मैं – अरे भाभी, ये आप कैसी बातें कर रही है?

भाभी – क्यों अच्छी नहीं लगी.

मैंने चेंज कर रही थी, तब तो मैं आपको बहुत अच्छी लग रही थी. मैं शरमा गया और चुप हो गया.

भाभी – क्या मैं आपको देखने सेक्सी लगती हु?

मैंने – हाँ भाभी. आप मुझे बहुत हॉट एंड सेक्सी लगी. जी चाहता है, कि मैं आपको रात भर सोने ना दू और प्यार करता रहू.

 

भाभी – काश मेरे पति भी तुम्हारी तरह के होते.

पर उन्हें तो मेरी परवाह ही नहीं है. मैं अपनी चेयर से उठा और भाभी के रसीले होठो पर अपने होठो को जमा दिया. मैंने उनके होठो को चूम कर चुसना शुरू कर दिया. फिर मैंने उन से कहा, भाभी मैं आपको साड़ी में चोदना चाहता हु. तब वो बोली – वेट हियर. आई विल कॉल यू. वो फिर अपने रूम में चेंज करने के लिए चली गयी. २० मिनट बाद अन्दर से आवाज़ आई. तो मैं तो बस उसको देखता ही रह गया. उन्होंने वहीं साड़ी पहनी थी, जिसे पहन कर वो मेरी शॉप पर आई थी. उन्होंने कहा – मैं तभी से तुम्हारी दीवानी हो गयी थी, जब तुम्हे शॉप पर देखा था और मेरे गले लग गयी. उनकी कोमल पीठ मेरे हाथो को महसूस होने लगी थी. उनके बूब्स मेरे चेस्ट पर प्रेस हो रहे थे. फिर भाभी ने पहल की और मुझे लिप किस करने लगी. ऐसा लग रहा था, कि वो बहुत दिनों से प्यासी है. अब मैं उनके पीछे गया और उनकी कमर को किस करने लगा. मैंने पीछे से उनके बूब्स को अपने हाथो से दबा लिया था और मस्त प्रेस कर रहा था. वो अपने हाथ मेरे लोअर के अन्दर डालने की कोशिश कर रही थी. उन्होंने मेरे लंड को सहलाना शुरू कर दिया.

उनकी मदहोश कर देने वाली आवाज़ अगहहः अहहाह अहः ऊऊओ अहहहः अहहहा ऊई…माँ ऊई.. माँ और जोर से दबाओ… जोर से सिसिसिस स्सिस्सिसी अहहाह आस्स्स्स… फिर उन्होंने मेरा लोअर और मेरा वेस्ट निकाल दिया. अब मैं सिर्फ अंडरवियर में था और वो मेरे पुरे बॉडी को किस करने लगी थी. मेरा पूरा लंड अब चड्डी से बाहर होने को आतुर था. तब उन्होंने खुद मेरे अंडरवियर को निकाल दिया और मैं पूरा नंगा हो गया. अब वो अपने रसीले होठ मेरे लंड पर फिराने लगी और चूसने लगी. मैं उनके बालो को सहला रहा था. फिर मैंने उन्हें बेड पर लिटा दिया और उनके पल्लू को हटा दिया और उनके पैरो से किसिंग स्टार्ट की. अब मैं उनकी साड़ी को उतारते हुए, उनकी थाई तक पंहुचा और फिर उनकी पेंटी के ऊपर से ही उनकी क्लीन शेव चूत पर एक जोरदार चुम्मा जड़ दिया. वो सिहर गयी और फिर मैंने उनके पेट पर किस की और उनके नेवल में अपनी जीभ को घुसा कर चाटना शुरू कर दिया. वो मोअनिंग कर रही थी अहः अहहाह अहहाह अहः प्लीज डोंट स्टॉप… आई लव यू… यू अरे सोऊ सेक्सी… अहः अहः हम्म्म्म हम्म्म्म उम्म्म्म ओम्म्म्म…

फिर मैं उनके ब्लाउज का हुक खोलने लगा और वो रेड कलर की ब्रा पहनी हुई थी मैंने उनके बूब्स को ब्रा के ऊपर से ही किस करने लगा. ऐसा लग रहा था, कि जैसे मैं अपनी सुहागरात मना रहा हु. फिर मैंने कहा – भाभी प्लीज टर्न अराउंड. तो उन्होंने कहा – प्लीज डोंट कॉल में भाभी. माय नेम इज सुमन. कॉल मी सुमन और वो घूम गयी. मैंने उनकी ब्लाउज निकाल दी और ब्रा का भी हुक खोल दिया. उनकी अब पूरी नंगी पीठ मेरे सामने थी और मैं पीठ का बहुत प्रेमी हु. तो मैं उनकी पूरी नंगी पीठ पर बहुत सारी किसिंग की और अपने हाथ से सुमन की चूत को सहलाना शुरू कर दिया. उसकी चूत पूरी की पूरी गीली हो गयी थी और मैं भी अब अपने पर कण्ट्रोल नहीं रख पा रहा था. मैंने झट से सुमन की पेंटी को उतार दिया और उसकी साड़ी भी निकाल दी. अब सुमन पूरी नंगी थी और मैंने पहले उसकी चूत को मस्त चाटा और अपनी जीभ डाल कर उसको पेलने लगा. वो मेरा सर अपने हाथो से अपनी चूत में दबा रही थी.. और जोर – जोर से मोअनिंग कर रही थी अहहाह अहः अहः अहहाह ओओओओं ऊओहोहोहोह प्लीज प्लीज हाहाह ऊईऊई ऊई ओई ऊओईई माँ… सक इट सक इट.. एस एस … अहः मम्मी… प्लीज अब अन्दर डाल दो ना… प्लीज.

तो अब मैंने उसकी चूत को बेड के किनारे किया और अपने लंड को उसकी चूत पर सेट किया और जोर से झटका मारा. मेरा लंड ऑलमोस्ट ४ इंच अन्दर चले गया और सुमन जोर से चिल्लाई.. उसकी चूत अभी भी बहुत टाइट लग रही थी. फिर मैं एक और झटका मारा और पूरा का पूरा लंड उसकी चूत के अन्दर चले गया. मैं अब उसको धीरे – धीरे पेलने लगा था. वो भी बहुत मज़े लेकर चुदवा रही थी और चोदते – चोदते, मैं पूरा का पूरा उसके ऊपर आ गया और हम किसिंग करने लगे. मैं चोदते हुए, उसके बूब्स को भी सक कर रहा था. अब मैं झड़ने वाला था और वो भी झड चुकी थी. मैंने अब अपनी स्पीड को बहुत तेज कर दिया और एकदम से उसकी चूत में ही डिस्चार्ज हो गया. हम दोनों नंगे ही एक दुसरे से लिपट कर पड़े रहे और किसिंग करने लगे. फिर मेरा इरेक्ट होने लगा और फिर से मैं २न्द इनिंग के लिए तैयार हो चूका था. अब मैं बेड पर लेट गया और वो मेरे ऊपर आ गयी. अब ऐसा लग रहा था, कि वो मेरी चुदाई कर रही थी. मैं उसके बूब्स को दबा रहा था और वी शॉट्स लगा रही थी.

फिर मैंने उनको घोड़ी बनाया और पीछे से उनकी गांड में डालने लगा. तो सुमन ने कहा – प्लीज गांड में मत डालो. मुझे बहुत डर लगता है. तो मैंने चूत में ही लंड डालने लगा. मैंने उसकी जोरदार चुदाई की और वो फिर से झड गयी. पर मैं अभी तक नहीं हुआ था. तो उसने कहा, कि मुझे तुम्हारा कम पीना है और उसने मेरे लंड अपने मुह में ले लिया और जोर – जोर से मेरे लंड को चूसने लगी. मैं तो एकदम से सातवे आसमान पर पहुच गया था. फिर हम दोनों नंगे ही लिपट कर सो गये और हमारी नीद सुबह ७ बजे खुली. मैंने उसको गुड बाय किस किया और अपने कपड़े पहने और अपने घर के लिए निकल गया. मैं बाद में भी उनके कांटेक्ट में रहा और जब भी मौका मिला, उनकी मैंने मस्त चुदाई की.